सहवाग ने लिया सन्यास

Tuesday, October 20, 2015

A A

वीरेंद्र सहवाग-क्रिकेटर

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: वीरेंद्र सहवाग ने मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट और आईपीएल से संन्यास की घोषणा कर दी. भारत के सबसे सफल सलामी बल्लेबाजों में से एक वीरेंद्र सहवाग ने मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट और इंडियन प्रीमियर लीग से तत्काल प्रभाव से संन्यास की घोषणा कर दी. सहवाग ने अपने ट्विटर अकाउंट यह जानकारी दी. सहवाग ने लिखा, “मुझे शुभकामनाएं एवं प्यार देने के लिए आप सभी का धन्यवाद. तत्काल प्रभाव से मैं आज क्रिकेट के सभी प्रारूपों और आईपीएल से संन्यास की घोषणा करता हूं.”

मंगलवार को सहवाग अपना 37वां जन्मदिन मना रहे हैं. सहवाग अभी रणजी ट्रॉफी में हरियाणा के लिए खेल रहे हैं.

सहवाग ने एक दिन पहले ही संकेत दे दिया था कि वह संयुक्त अरब अमीरात में अगले साल जनवरी में होने वाले मास्टर्स चैम्पियंस लीग में हिस्सा लेने के लिए ‘जल्द ही’ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट और आईपीएल से संन्यास ले लेंगे.

हालांकि जल्दी ही आने वाली घोषणा का दिन एक दिन बाद ही आ गया.

सहवाग ने एक वक्तव्य जारी कर कहा, “कल मार्क ट्वेन के उद्धरण के साथ मेरे संन्यास की खबर काफी बढ़ा-चढ़ा कर पेश की गई. हालांकि मैंने विश्लेषकों की मान्यता के विपरीत हमेशा से वही किया है जिसें मैं सही मानता रहा हूं.”

सहवाग ने कहा, “मुझ पर हमेशा ईश्वर की दया रही है और मैंने खेल के मैदान पर और अपने जीवन में जो करना चाहा वह किया. मैंने कुछ समय पहले ही तय कर लिया था कि अपने 37वें जन्मदिन पर मैं संन्यास ले लूंगा. इसलिए मैं क्रिकेट के सभी प्रारूपों और आईपीएल से संन्यास की घोषणा करता हूं.”

सहवाग हालांकि मास्टर्स चैम्पियंस लीग में खेलते रहेंगे.

एमसीएल के नियम के मुताबिक इसमें हिस्सा लेने वाले खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में किसी भी प्रारूप में सक्रिय नहीं होने चाहिए.

सहवाग ने सोमवार को दुबई में अपने संन्यास की बात कह दी थी. बाद में सहवाग ने ‘द क्विंट’ को दिए गए साक्षात्कार में इस बात की पुष्टि कर दी. सहवाग ने कहा, “हां, मैं एमसीएल में खेलूंगा. जल्द ही मैं अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लूंगा. मैं जल्द ही आधिकारिक तौर पर इस बात की घोषणा करूंगा.”

सहवाग ने मंगलवार को जारी वक्तव्य में कहा, “मैं अपने साथी खिलाड़ियों का आभार व्यक्त करता हूं, उनमें से कुछ महान खिलाड़ी बने. मैं अपने सभी कप्तानों का भी आभार व्यक्त करता हूं, जिन्होंने मुझ पर विश्वास जताया. मैं अपने सबसे बड़े साझीदार भारतीय खेल प्रशंसकों का मेरे लिए दिखाए गए लगाव और समर्थन के लिए धन्यवाद देता हूं. मैंने दुनिया के कुछ धुरंधर खिलाड़ियों के खिलाफ खेला, जो मेरे लिए बेहद सम्मान की बात रही.”

दिल्ली निवासी सहवाग अभी हरियाणा के लिए रणजी ट्रॉफी खेल रहे हैं और वह इस टीम के कप्तान हैं. सहवाग ने इस सीजन में दो मैचों में अर्धशतक लगाए हैं. हरियाणा क्रिकेट संघ के सचिव अनिरुद्ध चौधरी ने कहा है कि सहवाग पूरे सीजन में हरियाणा के लिए खेलेंगे. अब देखना है कि पहली बार दिल्ली से अलग होकर रणजी खेल रहे सहवाग अपना वचन निभाते हैं या नहीं.

सहवाग ने भारत के लिए 15 साल के करियर में 104 टेस्ट खेलते हुए 8586 रन बनाए. इसके अलावा सहवाग ने 251 एकदिवसीय मैचों में 8273 रन जुटाए. टेस्ट मैचों में सहवाग के नाम 23 और एकदिवसीय मैचो में 15 शतक हैं. वह एकदिवसीय मैचों में दोहरा शतक लगाने वाले गिने-चुने खिलाड़ियों में शामिल हैं. इसके अलावा वह टेस्ट मैचों में दो तिहरे शतक लगाने वाले चार खिलाड़ियों में से एक हैं.

सहवाग ने कहा, “मैं आज अपने पिता की कमी महसूस कर रहा हूं. मैंने जब यह सफर शुरू किया था तब वह मेरे साथ थे और मैं चाहता था कि वह आज मेरे साथ होते. मैं अपने कोच ए. एन. शर्मा का आभार व्यक्त करना चाहूंगा, जिनकी बदौलत मैं एक संपूर्ण खिलाड़ी बन सका.”

टेस्ट में सहवाग ने 40 और एकदिवसीय मैचों में 90 विकेट लिए. इसके अलावा सहवाग ने भारत के लिए 19 टी-20 मैच खेले और 394 रन बनाए. 2011 में विश्व कप जीतने वाली टीम के सदस्य रहे सहवाग ने अपना अंतिम टेस्ट 2 मार्च, 2013 को हैदराबाद में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था जबकि एकदिवसीय टीम के लिए वह अंतिम बार 2013 में कोलकाता में पाकिस्तान के खिलाफ खेले थे.

Tags: , , ,