शुरू होगी सबरीमाला तीर्थयात्रा

Friday, November 15, 2013

A A

अयप्पा भगवान

तिरूवनंतपुरम | एजेंसी: सबरीमाला तीर्थयात्रा की घोषणा के साथ केरल के सबरीमाला मंदिर के गर्भगृह के कपाट शनिवार को मलयालम के ‘वृश्चिकम’ माह के प्रथम दिन खुलेंगे. समुद्र तल से 914 मीटर की ऊंचाई पर पश्चिमी घाटों की पर्वत श्रृंखलाओं में स्थित सबरीमाला मंदिर, पाथनमथिट्टा जिले के पांबा से ऊपर की ओर चार किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, जो कि राजधानी से लगभग 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है.

यह मंदिर देश के प्रसिद्ध हिंदू तीर्थ स्थलों में से एक है. पांबा से पैदल यात्रा करके ही मंदिर जाया जा सकता है. यहां यौवन प्राप्त कर चुकीं महिलाओं का आना मना है.

मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने बताया, “सभी व्यवस्थाएं हैं, तीर्थयात्रियों को सबसे अच्छी सुविधा मिले इसके लिए हम कई बार चर्चाएं कर चुके हैं.”

कुछ तीर्थयात्री मंदिर के कपाट बंद होने से पहले 41 दिन की गहन तपस्या करते हैं. इस तपस्या में वे पैरों में किसी प्रकार के जूते या चप्पल नहीं पहनते, काले रंग की धोती और छड़ी का प्रयोग करते हैं और सिर्फ शाकाहारी भोजन करते हैं.

सबरीमाला के एक भक्त और ठेकेदार के.अजीत कुमार ने बताया, “मैं सुनिश्चित नहीं हूं कि सारे तीर्थयात्री इस दिनचर्या का पालन करते हैं लेकिन पड़ोसी राज्यों से आने वाले भक्त विशेष रूप से ऐसा करते हैं. शायद यहां पहले जैसा धार्मिक उत्साह नहीं है. लेकिन एक चीज नहीं बदली है, जो यहां एक बार आता है, बार-बार यहां आना चाहता है.”

मंदिर में दर्शनों के लिए बुकिंग कराने के इच्छुक तीर्थयात्री अग्रिम कूपन प्राप्त करके या मंदिर की वेबसाइट ‘डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट सबरीमालाक्यू डॉट कॉम’ पर जाकर बुकिंग करा सकते हैं.

Tags: ,