नरभक्षी तेंदुए ने बच्चे की जान ली

Tuesday, February 18, 2014

A A

घायल बच्चा

रतनपुर | उस्मान कुरैशी: बीते छह माह से अपने दो शावकों के साथ नगर से लगे जंगलों में घूम रहा नरभक्षी हो गया है. इस बात की पुष्टि सोमवार की शाम बच्चे पर किए हमले से हो गई. तेन्दुए के हमले में गंभीर रूप से घायल बच्चे ने अस्पताल लाते समय रास्ते में ही दम तोड़ दिया. घटना रतनपुर नगर पंचायत क्षेत्र के वार्ड 15 मेण्ड्रापारा की है.

सोमवार की शाम साढ़े सात बजे के लगभग मेण्ड्रापारा निवासी पंचराम गोड़ का छह वर्शीय पुत्र अमन घर से आंगन में पेशाब करने निकला. इसी समय आंगन से लगी बाड़ी में घात लगाए बैठे तेंदुआ ने बच्चे पर हमला कर दिया. बच्चे की चीख पुकार सुन कर घर में मौजूद परिजन बाहर निकले. तब तक तेन्दुआ बच्चे को खीच कर काफी दूर जंगल की ओर ले गया था. जंगली जानवर को बच्चे की खीच कर ले जाता देख परिजनों ने भी शोर मचाकर आसपास के ग्रामीणों बुलाया.

सारी घटना की जानकारी मिलने के बाद ग्रामीण शोर शराबा करते बच्चा की पता साजी करने जंगल की गए. बाड़ी के पीछे कुछ दूरी पर बच्चा गंभीर अवस्था में मिला . बच्चे को उपचार के लिए अस्पताल लाया जा रहा था इस दौरान बच्चे ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में मौजूद प्रभारी चिकित्सक अनिल श्रीवास्तव ने जांच के बाद बच्चें को मृत घोषइत कर दिया.

बीते डेढ़ माह में तेन्दुआ द्वारा हमला कर बच्चे को मार देने की ये दूसरी घटना है. बीते 30 दिसम्बर को लखनी देवी पहाड़ी के जंगल में दो दिन से लापता बच्चे की छत विक्षत लाश मिली थी. पोस्ट मार्टम की रिपोर्ट में जंगली जानवर द्वारा शिकार किए जाने का खुलाया हुआ. बीते छह माह में तेन्दुआ कई घरेलू पशुओं को अपना शिकार बना चुका है. जानकारी के बाद भी वन अमला उदासीन बना हुआ है.

आज की घटना को लेकर ग्रामीणों में तीखा आक्रोश है. वन विभाग ने फौरी तौर पर मुतक बच्चे के पिता को दस हजार की सहायता राशु प्रदान की है. रतनपुर पुलिस ने भी घटना पर मर्ग कायम कर विवेचना शुरू कर दी है.

Tags: , , ,