रांची का व्यवसायी जशपुर से रिहा

Wednesday, February 4, 2015

A A

अपहरण

रांची | समाचार डेस्क: रांची से अपह्रत व्यवसायी को जशपुर से छुड़ाया गया है. रांची के इस सनसनीखेज अपहरण कांड में कई राज्यों के अपराधी शामिल थे.

प्रभात खबर के अनुसार रांची के अपर बाजार के रंगरेज गली स्थित जेवर दुकान के संचालक गणोश साहू को रिहा करने के लिए अपराधियों ने एक करोड़ रुपये की फिरौती मांगी थी, लेकिन सौदा 15 लाख रुपये में तय हुआ था.

कोतवाली पुलिस की टीम ने उन्हें बिना रकम दिये हुए ही रिहा करा लिया. व्यवसायी को जशपुर थाना क्षेत्र के लोदाम के रामरेखा पहाड़ी से रिहा कराया गया. इस अपहरण में सिमडेगा, गुमला के रायडीह व छत्तीसगढ़ के आधे दर्जन से अधिक अपराधी शामिल थे. सभी अपराधियों का नाम व पता पुलिस को मिल गया है. शीघ्र ही पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर लेगी. यह जानकारी कोतवाली इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी अरविंद सिन्हा ने दी.

अरविंद सिन्हा ने बताया कि 27 जनवरी को गणोश साहू दुकान बंद कर इटकी स्थित आवास जाने के लिए कार से निकले. उनके साथ एक कर्मचारी भी था. उनलोगों ने इटकी रोड के एक होटल में खाना खाया. उसके बाद वे लोग घर नहीं पहुंचे. 28 जनवरी को व्यवसायी पुत्र ने लापता का सनहा कोतवाली थाना में दर्ज कराया था. लापता होने के एक दिन के बाद व्यवसायी पुत्र के मोबाइल पर एक करोड़ रुपये फिरौती की मांग की गयी. उसने इसकी जानकारी कोतवाली पुलिस को दी. कोतवाली पुलिस ने तकनीकी शाखा से उस मोबाइल का कॉल डिटेल निकाला.

मोबाइल का लोकेशन हमेशा रायडीह, सिमडेगा या जशपुर बताता था. पुलिस ने फिरौती की रकम अधिक होने की बात कह कर 15 लाख रुपये में सौदा तय किया. उसके बाद सादे लिबास में पुलिस की टीम जशपुर पहुंची. कोतवाली पुलिस ने छत्तीसगढ़ पुलिस की मदद से व्यवसायी व कर्मचारी को रिहा करा लिया गया.

Tags: , , , , , , ,