चुनाव में सबको पर्याप्त सुरक्षा-रमन

Thursday, May 30, 2013

A A

रमन सिंह

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने नक्सल हमले को लेकर हुई सर्वदलीय बैठक के बाद कहा कि चुनाव अभियान के दौरान सभी राजनैतिक दलों कोपर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराई जाएगी. उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चौबे और केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत ने सर्वदलीय बैठक में शामिल होने की सहमति दी थी. उसके बावजूद कांग्रेस के शामिल नहीं होने का उन्हें दुख है. उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली आकर यहां उनके और उनके मंत्रियों के साथ बैठक कर सकते हैं तो यहां के नेता क्यों नहीं.

बैठक के बाद संवाददाताओं को मुख्यमंत्री ने बताया कि बस्तर में सरकार की विकास यात्रा और कांग्रेस की सफल परिवर्तन यात्रा के बाद नक्सलियों को लगा कि यह उनके लिए एक बड़ी चुनौती है इससे खीझ कर ही नक्सलियों ने ऐसी हरकत की है. लोकतांत्रिक गतिविधियों का विरोध करने के लिए उन्होंने ऐसी वारदात की. उन्होंने कहा कि सर्वदलीय बैठक करने से पहले उन्होंने कांग्रेस के नेताओं से इसकी भूमिका के संबंध में चर्चा की थी. नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चौबे और केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत ने बैठक में आने की सहमति दी थी. उनकी सहमति के बाद ही आज की बैठक की तारीख तय की गई थी. लेकिन प्रेस और टीवी के माध्यम से पता चला कि वे बैठक का बहिष्कार कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि जब प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी यहां आकर राज्य सरकार के साथ बैठक कर सकते हैं तो यहां के नेता क्यों नहीं कर सकते.

मुख्यमंत्री ने कहा कि बैठक में दूसरे सभी दलों के प्रतिनिधि शामिल हुए. सभी ने नक्सलियों के हमले की कड़ी निंदा की. उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार के आपसी तालमेल और नक्सल रणनीति के संबंध में अपने सुझाव दिए. कुछ सुझाव दीर्घकालिक हैं और कुछ अल्पकालिक. उन्होंने कहा कि वहां रोजगार और आजीविका बढ़ाने, पेशा कानून के क्रियान्वयन, छठवीं अनुसूची लागू करने, न्यायिक जांच के निष्कर्षों पर तुरंत कार्रवाई करने जैसे सुझाव दिए गए. साथ ही अर्ध सुरक्षा बलों की गतिविधि के साथ विकास गतिविधि बढ़ाने के बारे में भी सुझाव दिए गए. दलों के नेताओं का यह भी कहना था कि पुलिस गतिविधि के साथ-साथ वहां राजनीतिक गतिविधियां भी चलती रहनी चाहिए.

Tags: , , ,