राजेश खन्ना के अनछुए पहलु ‘कुछ तो लोग कहेंगे’

Saturday, December 20, 2014

A A

राजेश खन्ना-'काका'

नई दिल्ली | मनोरंजन डेस्क: बालीवुड के पहले ‘सुपरस्टार’ राजेश खन्ना के जीवन के अनछुए पहलुओं का वर्णन करने वाली किताब ‘कुछ तो लोग कहेंगे’ का अनावरण शुक्रवार को किया गया. इस किताब ‘कुछ तो लोग कहेंगे’ के बाजार में आ जाने के बाद राजेश खन्ना के प्रशंसक जिनमें से ज्यादातर ने अपने जीवन के पचास बसंत पूरे कर लिये हैं, उनके जीवन पर प्रकाशित इस किताब से फिर से पुराने दिनों में खो जायेंगे. राजेश खन्ना को उनके जीवन काल में ‘काका’ के नाम से बुलाया जाता था. ‘काका’ ने 2012 में दुनिया को अंतिम रूप से अलविदा कह दिया था परन्तु अभी भी ऐसे लाखों लोग हैं जिनके जेहन में ‘काका’ आज भी जिंदा हैं. दिल्ली के इंडिया हैबिटैट सेंटर में शुक्रवार को बालीवुड के दिवंगत अभिनेता राजेश खन्ना की किताब ‘कुछ तो लोग कहेंगे’ का अनावरण सलमान खुर्शीद ने किया.

राजेश खन्ना जिनके लिए ‘सुपरस्टार’ शब्द गढ़ा गया. वे पहले सुपरस्टार थे, जो उस दौर में फिल्म इंडस्ट्री के भगवान थे. खून से लिखे खत, चुंबनों से ढंकी गाड़ी और उस गाड़ी की धूल से मांग भरती देश भर की लड़कियां. ये सब अफसाने हैं लेकिन हर अफसाना एक-दूसरे से ज्यादा सच्चा.

राजेश खन्ना की जब भी चर्चा होती है तो कहा जाता है कि उनका स्टारडम सिर्फ तीन साल (1969-1972) तक रहा. लेकिन ये बात पूरी तरह गलत है. साथ ही, यह कहना भी पूरी तरह सही नहीं होगा कि उनके पतन की वजह उनकी करिश्माई कामयाबी ही थी.

राजेश खन्ना के बारे में ऐसे सभी पूर्वाग्रहों से अलग, इस किताब ‘राजेश खन्ना- कुछ तो लोग कहेंगे’ में लेखक यासिर उस्मान गहन शोध और राजेश खन्ना के करीबी लोगों के साक्षात्कार के जरिए एक नई कहानी सामने लाते हैं. कहानी, जो जुड़ी है राजेश खन्ना की निजी जिंदगी के कुछ अनसुने अध्यायों से. ये किताब कहने को तो एक बायोग्राफी है जो पूरी तरह तथ्यात्मक है, लेकिन कहानी कहने का अंदाज नया है.

इस किताब के लिए शोध और लेखन में लेखक यासिर उस्मान को एक साल से ज्यादा का समय लगा. राजेश खन्ना के कई निर्माता-निर्देशकों, को-स्टार्स और करीबी लोगों से बात करके वह राजेश खन्ना की जिंदगी के कई पहलुओं को सामने लाए हैं.

टेलीविजन पत्रकार और लेखक यासिर उस्मान ने यह किताब हिंदी और अंग्रेजी भाषाओं में लिखी है और इसे पेंगुइन बुक्स इंडिया ने प्रकाशित किया है. 296 पन्नों की इस किताब का मूल्य 250.00 रुपये है और इसमें राजेश खन्ना के जीवन से जुड़े कई रोचक चित्र प्रकाशित किए गए हैं. किताब का ई-बुक वर्जन भी जल्दी ही उपलब्ध होगा.

Tags: , , , , , , , ,