राजे, मोदी बिजनेस पार्टनर: कांग्रेस

Monday, June 29, 2015

A A

जयराम रमेश

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: कांग्रेस ने ललित मोदी तथा वसुंधरा राजे पर बिजनेस पार्टनर होने का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने राजस्थान के धौलपुर पैलेस को सरकारी संपत्ति होने का दावा करते हुये इस पर कब्जे का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने इंडियन प्रीमियर लीग के पूर्व प्रमुख ललित मोदी की मदद को लेकर विवादों में घिरीं राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर हमला तेज करते हुए सोमवार को कहा कि उनके बीच सीधे तौर पर वित्तीय लेनदेन रहा है. कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा कि उनके मालिकाना हक वाली कंपनी सार्वजनिक संपत्ति का इस्तेमाल निजी संपत्ति के रूप में करती रही.

कांग्रेस नेता ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “वसुंधरा, उनके बेटे दुष्यंत सिंह, पुत्रवधु निहारिका सिंह और ललित मोदी के मालिकाना हक वाली कंपनी नियंत प्राइवेट लिमिटेड ने राजस्थान सरकार की संपित्त पर कब्जा कर लिया, फिर इसे एक निजी और आलीशान होटल में बदल दिया और इसमें 100 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश कर दिया.”

उन्होंने कहा, “एक संयुक्त उपक्रम कंपनी नियंत हैरिटेज प्राइवेट प्रॉपर्टीज लिमिटेड का संचालन कर रही है, जो धौलपुर पैलेस चला रही है.”

राजस्थान सरकार के दस्तावेज दिखाते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इन दस्तावेजों से यह स्पष्ट हो गया कि धौलपुर पैलेस कभी धौलपुर के शाही परिवार की निजी संपत्ति था ही नहीं.

उन्होंने कहा कि धौलपुर पैलेस सरकारी संपत्ति होने के बावजूद ललित मोदी और राजे ने इसे एक निजी और आलीशान होटल में बदल दिया.

रमेश ने कहा, “हमें दुख के साथ कहना होगा कि वसुंधरा राजे के पति ने 1980 में एक बयान में कहा था कि धौलपुर पैलेस सरकार के अधिकार में आता है.”

उन्होंने आरोप लगाया कि ललित मोदी और राजे सरकारी संपत्ति को निजी संपत्ति में बदल रहे हैं. उन्होंने कहा, “यहां तक कि वसुंधरा राजे ने स्वयं माना था कि धौलपुर की संपत्ति पर राजस्थान सरकार का स्वामित्व था.”

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, “पहली बात वह और भगोड़ा ललित मोदी दोनों व्यवसाय में साझेदार हैं. दूसरी बात जो सामने आई है वह यह कि ललित मोदी को मॉरीशस से 21 करोड़ रुपये मिले, जिसे उन्होंने दुष्यंत की कंपनी में निवेश कर दिया. और तीसरा तथ्य यह है कि वसुंधरा राजे ने उनकी सहायता करने के उद्देश्य से ब्रिटेन के अधिकारियों के लिए सात पेज के एक दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए थे.”

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा. जयराम रमेश ने ललित मोदी मामले पर उनकी चुप्पी पर निशाना साधते हुए उन्हें ‘स्वामी मौनेंद्र बाबा’ कहा.

राजे के इस्तीफे के अलावा कांग्रेस ललित मोदी को यात्रा दस्तावेज मुहैया कराने में सहायता करने पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का भी इस्तीफा मांग रही है.

भाजपा ने नकारे आरोप

भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत सिंह के धौलपुर महल के मलिकाना हक को लेकर लगाए गए आरोपों का बेबुनियाद और तथ्यहीन बताया. धौलपुर महल अब होटल में परिवर्तित हो चुका है.

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “सारे आरोप बेबुनियाद हैं तथा कांग्रेस वसुंधरा की छवि बिगाड़ने के अभियान पर काम कर रही है.”

परनामी ने वसुंधरा के खिलाफ आरोप लगाने वाले कांग्रेस नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश को इस मुद्दे पर बहस की चुनौती भी दी.

परनामी ने कहा, “या तो वह आरोपों को साबित करें या राजनीति छोड़ दें. जरा देखिए, भ्रष्टाचार के इतिहास से भरी पार्टी हम पर ही भ्रष्टाचार के आरोप लगा रही है.”

उन्होंने आगे कहा, “हमारे पास दुष्यंत के पास धौलपुर महल का मालिकाना हक होने के दस्तावेज हैं तथा धौलपुर महल पर अवैध कब्जा नहीं किया गया. सभी जानते हैं कि वसुंधरा को वर्षो से धौलपुर की महारानी के रूप में जाना जाता है.”

परनामी ने धौलपुर महल के मालिकाना हक से संबंधित दस्तावेज भी दिखाए.

उन्होंने कहा, “यहां तक कि महानगर पालिका के रिकॉर्ड में भी देखा जा सकता है कि धौलपुर का मालिकाना हक दुष्यंत के पास है.”

Tags: , , ,