युवराज की ताजपोशी के लिये

Saturday, September 28, 2013

A A

कांग्रेस नेता राहुल गांधी

नई दिल्ली | एजेंसी: कांग्रेस के युवराज कहे जाने वाले राहुल गांधी ने जिस अंदाज में केन्द्र के अध्यादेश का विरोध किया है उससे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह खासे नाराज बताये जा रहें हैं. सूत्रों के मुताबिक राहुल के बयान के बाद अमेरिका दौरे पर गए मनमोहन सिंह ने सीधे सोनिया गांधी को फोन किया.

हालांकि राहुल गांधी ने मनमोहन सिंह को वाशिंगटन ई मेल भेजकर कहा है कि ‘मैं यह भी जानता हूं कि इसका हमारे राजनीतिक विरोधी फायदा उठाएंगे. आप जानते हैं कि मेरे मन में आपके लिए अगाध सम्मान है और आपकी बुद्धिमत्ता के लिए मैं आपकी ओर देखता हूं.’

राहुल के इस ई मेल से प्रधानमंत्री की नाराजगी दूर हुई है या नही यह अभी साफ नही हुआ है. भारत आने पर मनमोहन सिंह कौन सा कदम उठाते हैं उस पर कयास लगाये जा रहें हैं.

कुछ विश्लेषको का कहना है कि राहुल अपनी स्वतंत्र पहचान बनाने के लिये पिता राजीव गांधी के नक्शो कदम पर चल रहें है. ज्ञात्वय रहें कि राजीव गांधी ने तत्कालीन विदेश मंत्री पर प्रेस वार्ता में टिप्पणी करते हुए कहा था कि जल्द ही आप एक नये विदेश मंत्री से मिलेंगे.

राहुल गांधी ने आगामी विधानसभा चुनावों के लिये प्रत्याशी चयन के लिये भी पैमाना तैयार कर दिया है. वे पूरी तरह 2014 में होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुद गयें हैं. राहुल की नजर युवा मतदाताओं पर है जो साहसी नेतृत्व को पसंद करता है.

भाजपा द्वारा नरेन्द्र मोदी को अपना प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किये जाने के बाद से कांग्रेस भी अपनी तैयारी में जुट गयी है. राहुल के इस अंदाज को कांग्रेस के लिये एक नये युग की शुरुवात कहा जा रहा है जिसमें पुराने को हटकर नये के लिये सिंहासन खाली करना पड़ता है. सूत्रो के अनुसार यह सब युवराज की ताजपोशी के लिये किया जा रहा है.

Tags: , , ,