मंत्री की 22 सेक्स सीडी

Sunday, July 7, 2013

A A

पोर्न फिल्म

भोपाल | संवाददाता: मध्य प्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री राघवजी की अश्लील सीडी बनाने वाले भाजपा नेता शिवशंकर पटेरिया को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है. पार्टी ने हालांकि इसका कारण नहीं बताया है लेकिन माना जा रहा है कि देश भर में शिवराज सरकार की हो रही थू-थू से बचने के लिये यह कदम उठाया गया है. हालांकि पार्टी से अलग हो चुके पटेरिया का दावा है कि उसने पार्टी नेता राघवजी की ऐसी 22 सेक्स सीडी बनाई है, जिससे इनके चेहरे उजागर होंगे.

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के मंत्री रहे राघवजी के नौकर राजकुमार दांगी और घनश्याम कुशवाहा द्वारा थाने में शिकायत दर्ज कराने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को राघवजी से वित्त मंत्री पद से इस्तीफा मांग लिया था. राघवजी की सीडी को लेकर कांग्रेस पर आरोप लग रहे थे लेकिन शनिवार को स्थिति एकदम पलट गई. भाजपा नेता पटेरिया ने शनिवार को पत्रकारों के सामने दावा किया कि राघवजी की सीडी उन्होंने बनवाई है. वह पार्टी में व्याप्त गंदगी को खत्म करना चाहते हैं और राघवजी जैसे नेता की वास्तविकता को सामने लाने के लिए उन्होंने यह कदम उठाया. लेकिन इसका खामियाजा उन्हें पार्टी से बाहर हो कर उठाना प़ड़ा. पार्टी ने उन्हें इस कारण से बाहर का रास्ता दिखा दिया है.

इससे पहले विदिशा जिले के भाजपा नेता शिवशंकर पटेरिया ने आज यौन शोषण से संबंधित सीडियां उनके द्वारा बनवाने का दावा करते हुए कहा था कि यह कार्य पार्टी की गंदगी को दूर करने के लिए किया गया है. उन्होंने कहा कि इस मामले के सारे साक्ष्य और सीडियां उनके पास मौजूद है और पार्टी संगठन के समक्ष उनके द्वारा रखा गया है.

पटेरिया ने कहा कि राघवजी पर यौन शोषण की शिकायत पुलिस में करने वाला युवक यदि इन आरोपों से पीछे हटेगा तो वे इस सीडी को उजागर कर देंगे. उन्होंने एक सवाल के जवाब में उनके द्वारा किए गए इस काम से पार्टी को किसी प्रकार का नुकसान नहीं होगा, बल्कि पार्टी की गंदगी दूर होगी.

उन्होंने कहा कि राघवजी पर यौन शोषण की पुलिस में शिकायत करने वाला युवक विदिशा जिले में अपने गांव में समाज के लोगों के साथ सुरक्षित है. वह कहीं गायब नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि इस मामले के उजागर होने के बावजूद विदिशा जिले की सभी पांचों विधानसभा सीटों पर भाजपा जीत दर्ज करेगी. हालांकि पार्टी से निलंबित होने के बाद पटेरिया का कहीं अता-पता नहीं है.

Tags: , , ,