राफेल सौदा जरूरी था: पर्रिकर

Saturday, April 11, 2015

A A

मनोहर पर्रिकर-रक्षा मंत्री

पणजी | समाचार डेस्क: रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने को आवश्यक बताया. उन्होंने स्पष्ट किया कि मेक इन इंडिया एक दीर्घकालीन समाधान है जबकि हमें इन लड़ाकू विमानों की तत्काल जरूरत थी. मनोहर पर्रिकर ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फ्रांस यात्रा के दौरान 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के फैसले का स्वागत करते हुए इसे मोदी का ‘अत्यंत सकामरात्मक निर्णय’ कहा है. उन्होंने कहा कि पिछले 17 सालों में इस तरह के सौदे पर हस्ताक्षर नहीं हो पाए हैं. पर्रिकर ने यहां एक पुस्तक विमोचन समारोह के दौरान संवाददाताओं से ये बातें कही.

पेरिस में मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा होलांद की मुलाकात के दौरान 36 राफेल विमान खरीदने के सौदे को अंतिम रूप दिया गया.

पर्रिकर ने कहा, “मैं मोदी के फैसले का स्वागत करता हूं. यह जरूरी था और इसकी तत्काल जरूरत थी.”

उन्होंने यह भी कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ एक दीर्घकालिक समाधान है और तत्काल 36 लड़ाकू विमान खरीदना आवश्यक था.

पर्रिकर ने कहा कि भारतीय वायुसेना के कई विमान रखरखाव संबंधी समस्याओं का सामना कर रहे हैं. लड़ाकू विमानों की खरीद से सेना का मनोबल बढ़ेगा.

रक्षा मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा की गई कूटनीतिक पहलों के कारण अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में उनकी बातों का महत्व बढ़ा है.

उन्होंने कहा, “मैं अंतर्राष्ट्रीय कूटनीति के लिए उन्हें 10 में से 10 नंबर दूंगा.”

Tags: , , ,