भारतीय कंपनिया बड़े निवेशक

Monday, August 25, 2014

A A

प्रणव मुखर्जी

कोलकाता | समाचार डेस्क: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि भारतीय कंपनियां अब विदेश में बड़े पैमाने पर निवेश कर रही हैं. राष्ट्रपति रविवार को पश्चिम बंगाल के मुर्शीदाबाद में प्रबंधन में स्‍नातकोत्‍तर डिप्‍लोमा पाठ्यक्रम के प्रथम बैच के विद्यार्थियों को संबोधित कर रहे थे. उन्‍होंने इस अवसर पर मुर्शीदाबाद के जांगीपुर क्षेत्र में मैनेजमेंट डिवेलॅप्‍मेंट इंस्टिट्यूट के नए परिसर का उद्घाटन भी किया.

राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि भारत का कार्पोरेट क्षेत्र आश्‍चर्यजनक उपलब्धियां हासिल कर सकता है.

राष्‍ट्रपति ने कहा कि 1990 के दशक के प्रारंभ में आर्थिक सुधारो की प्रक्रिया शुरू होने के बाद भारतीय उद्यमियों की क्षमता उजागर हुई और कार्पोरेट क्षेत्र में व्‍यापक बदलाव आया. भारतीय कंपनियां अब विदेश में बड़े पैमाने पर निवेश कर रही हैं और वैश्विक पद्धतियां भारत आ रही हैं.

उन्‍होंने कहा कि आधुनिक भारतीय प्रबंधक अतीत के बोझ से मुक्‍त हो चुके हैं और विश्‍वभर में उन्‍होंने अपनी प्रतिस्‍पर्धा क्षमता सिद्ध कर दी है. भारतीय कंपनियां वैश्विक स्‍तर पर सबसे बड़े निवेशकों में शामिल हैं और उन्‍होंने ब्रिटेन में रोजगार के अवसर पैदा किए हैं तथा भारतीय कार्पोरेट क्षेत्र में अद्भुत कर दिखाने की क्षमता है.

राष्‍ट्रपति ने कहा कि हाल के लक्ष्‍यों और प्रवृत्तियों को देखते हुए यह विश्‍वास जगता है कि निकट भविष्‍य में 7 से 8 प्रतिशत तक विकास दर हासिल करना संभव हो सकता है. उन्‍होंने कहा कि गरीबी दूर करने के लिए यह लक्ष्‍य हासिल करना अनिवार्य है.

इस अवसर पर केन्‍द्रीय वित्‍त, रक्षा और कार्पोरेट मंत्री अरुण जेटली तथा सांसद अभिजीत मुखर्जी भी मौजूद थे.

Tags: , , , , , ,