शिक्षा राष्ट्रीय एजेंडा है: जावड़ेकर

Sunday, August 7, 2016

A A

प्रकाश जावड़ेकर-भाजपा

रायपुर | संवाददाता: प्रकाश जावड़ेकर ने छत्तीसगढ़ में कहा शिक्षा किसी दल का नहीं बल्कि राष्ट्रीय एजेंडा है. उन्होंने रविवार को छत्तीसगढ़ में देश के 23वें आईआईटी का शुभारंभ किया. केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि अच्छी शिक्षा से ही देश आगे बढ़ेगा. अच्छी शिक्षा,सबको शिक्षा हमारा लक्ष्य है. प्रकाश जावड़ेकर रविवार राजधानी रायपुर के सेजबहार स्थित शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज परिसर में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान भिलाई के शुभारंभ समारोह को सम्बोधित कर रहे थे.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और केन्द्रीय मंत्री जावड़ेकर ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर इसका शुभारंभ किया. यह छत्तीसगढ़ का प्रथम और देश का 23 वां आईआईटी होगा. इसकी कक्षाएं भिलाई नगर में स्वयं का कैम्पस बनने तक सेजबहार स्थित शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय के परिसर में संचालित होंगी. अभी यह संस्थान कम्प्यूटर सांईस एण्ड इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग और मेकेनिकल इंजीनियरिंग के साथ शुरू हो रहा है.

श्री जावड़ेकर ने शैक्षणिक सत्र 2018-19 से माइनिंग इंजीनियरिंग ब्रांच शुरू करने की घोषणा की. उन्होंने राज्य में तकनीकी शिक्षा सुविधाओं के विकास और विस्तार के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा लगातार किए जा रहे प्रयासों की भी तारीफ की. श्री जावड़ेकर ने कहा कि इसके लिए केन्द्र सरकार की ओर से छत्तीसगढ़ को हरसंभव सहयोग दिया जा रहा है.

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने समारोह में कहा कि आई.आई.टी. भिलाई इस राज्य और देश की भावी पीढ़ी का निर्माण करेगा. उन्होंने कहा- हमारा फोकस प्राथमिक शिक्षा को गुणवतापूर्ण बनाना है. छत्तीसगढ़ को बने 16 वर्ष हो गए हैं. इन वर्षों में उच्च शिक्षा के सभी संस्थान यहां आ चुके हैं. केवल आई.आई.टी. की कमी थी, जो आज पूरी हो गयी है. मुख्यमंत्री ने इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री जावड़ेकर के प्रति आभार प्रकट किया.

डॉ. रमन सिंह ने कहा कि नवनिर्माण की नयी कल्पना को साकार करने हमने छत्तीसगढ़ में मजबूत प्लेटफार्म तैयार कर लिया है. उन्होंने कहा- छत्तीसगढ़ निकट भविष्य में देश का सबसे तेज गति से विकसित राज्य बनेगा.

000छत्तीसगढ़ का पहला आई.आई.टी.: एक नजर में
यह देश का 23 वां भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान. इसमें पूर्णकालिक निदेशक की नियुक्ति होने तक निदेशक का दायित्व आई.आई.टी. हैदराबाद के निदेशक संभालेगे. शैक्षणिक और प्रशासनिक व्यवस्थाएं आई.आई.टी. हैदरबाद द्वारा की जाएंगी. भिलाई नगर में आई.आई.टी. के स्थायी कैम्पस के निर्माण तक समस्त शैक्षणिक कार्य अस्थायी कैम्पस (शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज परिसर सेजबहार रायपुर) में संचालित किए जाएंगे. इसके लिए राज्य शासन द्वारा इंजीनियरिंग कॉलेज के ब्लॉक-बी को आई.आई.टी. को उपलब्ध कराया गया है.

इसके अलावा 80 सीटर महिला छात्रावास और 120 सीटर पुरूष छात्रावास भी उपलब्ध कराया गया है. आवासीय व्यवस्था के लिए 18 अलग-अलग श्रेणियों के मकान भी दिए गए हैं. आई.आई.टी. भिलाई में इस वर्ष 118 विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया है. इनमें 105 छात्र और 13 छात्राएं शामिल हैं.

Tags: , , , , ,