सर्जिकल स्ट्राइक पर राजनीति तेज

Tuesday, October 4, 2016

A A

pok

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: सर्जिकल स्ट्राइक पर राजनीति तेज हो गई है. मंगलवार को कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाये थे. शाम होते-होते कांग्रेस ने बयान दिया है कि वह सर्जिकल स्ट्राइक पर सेना के साथ है परन्तु इस पर तुच्छ राजनीति नहीं होनी चाहिये.

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ” हम सर्जिकल स्ट्राइक पर कोई सवाल नहीं उठा रहे हैं लेकिन ये कोई पहला सर्जिकल स्ट्राइक नहीं है. सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर तुच्छ राजनीति ना की जाये. हमारा यही कहना है.”

रणदीप सुरजेवाला का कहना था, ”कांग्रेस पार्टी का आधिकारिक रूख यही है कि हम भारतीय सेना के साथ हैं और सर्जिकल स्ट्राइक्स का समर्थन करते हैं लेकिन पाकिस्तान इसे लेकर जिस तरह का दुष्प्रचार कर रहा है उसका जवाब देने की ज़िम्मेदारी भी केंद्र सरकार की है.”

कांग्रेस ने इससे पहले भी दावा किया था कि उसके कार्यकाल में भी दो बार सर्जिकल स्ट्राइक हो चुके हैं परन्तु इस मामले को हवा नहीं दी गई थी.

उधर, आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ की थी लेकिन यह भी कहा था कि कई समाचार माध्यम इस पर सवाल उठा रहें हैं जिसका जवाब सबूतों से देना चाहिये. जाहिर है कि अरविंद केजरीवाल सर्जिकल स्ट्राइक का समर्थन करने के साथ-साथ उसका सबूत भी मांग रहे हैं.

उधर सोशल मीडिया में भी इस सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर कई स्ट्राइक किये जा रहे हैं.

एक आशीष सिंह ठाकुर ने कहा है- जो डॉ. था वो चुपचाप दो सर्जरी करके निकल गया. और चाय बेचने वाला…आदत से मजबूर चाय चाय चाय चिल्लाता रहा.

फेसबुक पर एक अमरेश मिश्रा ने लिखा है- कल तक फेंकू फेंकू कहने वाले, आजकल बहुत सहमें से हैं उन बेचारों को क्या पता कि एक ही रात में इतना फेंक देगा.

Tags: , , , , , , ,