Budget Exam के लिए तैयार मोदी

Monday, February 29, 2016

A A

नरेंद्र मोदी-प्रधानमंत्री

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को ‘मन की बात’ में कहा कि उन्हें भी एक परीक्षा देनी है. उल्लेखनीय है कि सोमवार को देश का आम बजट पेश होना है. इसके साथ ही उन्होंने बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों से परीक्षा के दौरान सकारात्मक रुख अपनाए रखने का आग्रह किया. उन्होंने छात्रों से तनाव एवं दबाव से दूर रहने को कहा.

मोदी ने ‘मन की बात’ के 13वें संस्करण में बोर्ड परीक्षाओं पर ध्यान केंद्रित किया.

इस बार कार्यक्रम में क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, शतंरज चैम्पियन विश्वनाथन आनंद, धार्मिक गुरु मोरारी बापू और वैज्ञानिक सी.एन.आर. राव अतिथि वक्ता थे. इन सभी हस्तियों ने भी किशोरों से सकारात्मक रुख बनाए रखने को कहा.

आनंद ने छात्रों को शांत रहने की और राव ने कभी हार नहीं मानने की सलाह दी.

मोदी ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय विवाद, हैदराबाद विश्वविद्यालय के छात्र रोहित वेमुला और छात्रों एवं शिक्षा से संबद्ध अन्य मुद्दों पर कुछ भी नहीं कहा. प्रधानमंत्री ने उन मुद्दों पर भी कुछ नहीं कहा जिन्हें लेकर संसद में हंगामा हुआ था.

मोदी ने कहा, “मुझे भी कल परीक्षा देनी है. सवा सौ करोड़ भारतीय मेरी परीक्षा लेंगे.”

उन्होंने कहा, “आपने निश्चित रूप से ध्यान दिया होगा कि मैं स्वस्थ हूं, विश्वास से भरा हूं.. कल मैं अपनी परीक्षा दूंगा और आपकी परीक्षा उसके बाद शुरू होगी. यदि हम सफल रहते हैं तो देश सफल रहेगा.”

मोदी ने कहा, “दूसरों की उम्मीदों के बोझ तले मत दबना. अपने स्वयं के लक्ष्य निर्धारित करना. हम दूसरों से प्रतिस्पर्धा क्यों करें? खुद से ही स्पर्धा क्यों न करें? हमेशा अपना पिछला रिकॉर्ड तोड़ने की कोशिश करें, इससे आपको भीतर से संतोष होगा.”

तेंदुलकर ने अपने संदेश में छात्रों से सकारात्मक बने रहने की अपील की.

तेंदुलकर ने कहा, “सकारात्मक सोच से ही सकारात्मक नतीजे प्राप्त होते हैं.”

तेंदुलकर ने कहा, “मैं कहना चाहूंगा कि आपको स्वयं के लिए लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए और किसी की उम्मीदों के दबाव में नहीं आना चाहिए. मेहनत करें, लेकिन अपने लिए वास्तविक लक्ष्य बनाएं.”

आनंद ने कहा कि बोर्ड परीक्षा की समस्याएं जीवन में आगे चल कर आने वाली चुनौतियों के समान ही होती हैं.

शतरंज के पांच बार के विश्वविजेता ने कहा, “परीक्षा जीवन में आगे चलकर आने वाली समस्याओं के ही समान हैं. सबसे जरूरी है कि हम शांत रहें. यह शतरंज के खेल की तरह ही है.”

आनंद ने कहा, “यदि आप शांत रहते हैं और अच्छी नींद लेते हैं तो आपका मस्तिष्क पुरानी चीजों को ठीक से दोहरा पाएगा और सही समय पर सही जवाब दे पाएगा. इसलिए शांत रहें. यह बहुत महत्वपूर्ण है कि खुद पर बहुत अधिक दबाव न लें.”

वैज्ञानिक सी.एन.आर. राव ने छात्रों को याद दिलाया कि देश में बहुत सारे अवसर हैं.

उन्होंने कहा, “सोचें कि आपको जीवन में क्या चाहिए, उसकी उम्मीद कभी न छोड़ें.”

धार्मिक गुरु मोरारी बापू ने अपने संदेश में छात्रों से परीक्षा पर ध्यान केंद्रित करने और परीक्षा परिणाम के नतीजों को स्वीकार करने को कहा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छात्रों से कहा कि वे समय का ध्यान रखें, ताकि परीक्षा केंद्र पर पहुंचने में उन्हें किसी तरह की हड़बड़ी न हो.

उन्होंने छात्रों को बेहतर नींद लेने की जरूरत पर भी जोर दिया.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12वीं की परीक्षा पहली मार्च से शुरू होने वाली है, जबकि 10वीं की परीक्षा दो मार्च से शुरू होगी.

Tags: , , , , , ,