10 मई को दवा कारोबार बंद

Thursday, May 9, 2013

A A

एंटीबायोटिक से प्रतिरोध क्षमता

रायपुर | विशेष संवाददाता: 10 मई को छत्तीसगढ़ के सभी दवा दुकाने बंद रहेंगी. प्रदेश में करीब साढ़े सात हजार दवाओं के थोक एवं खुदरा दुकाने हैं जो इस दिन हड़ताल पर रहेगें. केन्द्र सरकार की नीतियों से दवा कारोबार पर जो विपरीत प्रभाव पड़ रहा है उसके खिलाफ यह हड़ताल होगी.

छत्तीसगढ़ दवा व्यापारी संघ के राजेन्द्र अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ खबर को बताया कि केन्द्र सरकार 348 दवाओं पर, दवा दुकानदारों को मिलने वाले मार्जिन को कम करने जा रही है. छः प्रतिशत मार्जिन कम करने का प्रस्ताव है. हमें पहले से ही कम मुनाफा मिलता है यदि इसे और घटा दिया जायेगा तो हमारे लिये व्यापार करना दुभर हो जायेगा.

आज दवा दुकानदार बनी बनाई दवाइयों को ही बेचते हैं. इस कारण दवा यदि नकली निकलती है तो हमें क्यों सजा मिलनी चाहिये. सजा का असल हकदार तो उसे बनाने वाला है. सरकार को नकली दवाओं संबंधित कानून में इसका प्रावधान रखना चाहिये. हमारे पास दवाओं की जॉच करने के लिये कोई लैब तो नही है. नकली दवाओं के स्त्रोत को बंद करना होगा.

इसके अलावा यदि किसी को दवा दुकान में काम करने का पॉच वर्षो का अनुभव है तो उसे दुकान चलाने की अनुमति प्रदान की जाये. पहले के समान आज के दवा दुकानदार कोई मिश्रण तो बना के नही बेचते हैं. हम तो पैक किये हुए दवाओं को ही बेचते हैं. इस लिये अनुभव के आधार पर भी लाईसेंस देना होगा.

ज्ञात्वय रहे कि इन तीन मांगो के अलावा दवा के क्षेत्र में शत प्रतिशत विदेशी निवेश का भी विरोध किया जा रहा है. 10 मई को देशभर के साढ़े सात लाख दवा व्यवसायी हड़ताल पर रहेंगे.

Tags: , ,