पेशावर आत्मघाती हमले में कई हताहत

Monday, September 23, 2013

A A

पाकिस्तान

पेशावर | एजेंसी: पाकिस्तान के पेशावर शहर में रविवार सुबह एक चर्च के नजदीक दो आत्मघाती हमलावरों द्वारा किए गए बम विस्फोटों में कम से कम 60 लोगों की मौत हो गई तथा 120 अन्य घायल हो गए.

पाकिस्तानी अधिकारियों ने यह जानकारी दी. एसोसिएटेड प्रेस ऑफ पाकिस्तान के अनुसार लेडी रीडिंग अस्पताल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरशद जावेद ने हमले में मारे गए लोगों की संख्या की पुष्टि की है.

बम निरोधक दस्ते के मुख्य अधिकारी शफकत ने इस बात की पुष्टि की है कि रविवार को पाकिस्तान चर्च नाम के चर्च से प्रार्थना के बाद बाहर आ रहे लोगों के बीच दो आत्मघाती आतंकवादियों ने बम विस्फोट किया.

शफकत ने अनुमान के मुताबिक कहा कि हमले में 12 किलोग्राम विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया. उन्होंने कहा कि दोनों आत्मघाती हमलावरों का सर बरामद कर लिया गया है, जिसके आधार पर जल्द ही उनके रेखाचित्र तैयार करवा लिए जाएंगे.

एक प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार चर्च में रविवार की प्रार्थना के बाद जब लोग चर्च से बाहर निकल रहे थे, तभी विस्फोट हुआ.

विस्फोट के समय चर्च के अंदर करीब 500 से 600 लोग थे. प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि हमलावरों ने पुलिस की वर्दी पहनी हुई थी. घायलों को शहर के लेडी रीडिंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां 13 घायलों की स्थिति नाजुक बताई जा रही है.

पेशावर के सबसे पुराने चर्चो में शामिल इस चर्च का निर्माण 1883 में करवाया गया था, तथा इस समय चर्च बहुत घनी आबादी के बीच स्थित है.

चर्च के आस-पास का इलाका ईसाई समुदाय का है, तथा रविवार की प्रार्थना में बड़ी संख्या में, खासकर महिलाएं चर्च जाती हैं. इसाई समुदाय ने बाद में हमले के विरोध में प्रदर्शन किया और विरोध स्वरूप टायर फूंके.

पुलिस ने बताया कि सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और खोजी अभियान शुरू कर दिया गया है. पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय पर किया गया यह अबतक का सबसे बड़ा हमला है.

अधिकारियों ने कहा है कि हमला रविवार पूर्वाह्न 11.45 बजे हुआ. पेशावर के कीसा खवानी बाजार इलाके में स्थित चर्च से लोगों के बाहर आते समय दो आत्मघाती हमलावरों ने खुद को उड़ा दिया.

इस बीच हमले में घायल चर्च के धर्माधिकारी इजाज गिल ने बताया कि विस्फोट के कारण चर्च की इमारत को भी नुकसान पहुंचा है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने हमले की कड़ी निंदा की और हमले में मारे गए लोगों के प्रति गहरी सहानुभूति व्यक्त की.

शरीफ ने कहा कि आतंकवादियों का कोई मजहब नहीं होता तथा वे भोले-भाले लोगों को अपनी हिंसा का निशाना बनाते हैं, जो इस्लाम के खिलाफ है.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने भी हमले में हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की.

अब तक हालांकि किसी भी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है.

Tags: , ,