पाक मीडिया को तालिबान ने धमकाया

Thursday, November 28, 2013

A A

sachin tendulkar

इस्लामाबाद | समाचार डेस्क: तालिबान ने पाकिस्तानी मीडिया को भारत के क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर की तारीफ न करने के लिये धमकाया है. यह धमकी एक वीडियो संदेश के माध्यम से दिया गया है. जिसमें कहा गया है कि पाक मीडिया सचिन का गुणगान करती है तथा पाक क्रिकेट के कप्तान मिसबाह उल हक की आलोचना करती है.

वीडियो संदेश में प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के प्रवक्ता शाहिदुल्लाह शाहिद दो नकाबपोशों से घिरे दिख रहें हैं. तालिबानी प्रवक्ता ने कहा है कि सचिन कितने भी अच्छे क्यों न हो उसकी ताराफ मत करो, क्योंकि वह भारतीय हैं. तालिबानी प्रवक्ता ने पाक मीडिया से कहा है कि मिसबाह कितना भी बुरा खेले उसकी तारीफ करो, क्योंकि वह पाकिस्तानी है.

गौर तलब है कि पाक मीडिया ने दुनिया के अन्य कई देशों की तरह सचिन के अंतिम मैच तथा विदाई भाषण का सीधा प्रसारण किया था. पाक अखबारों ने भी सचिन के तारीफ मे पुल बांध दिये थे. उर्दू दैनिक ‘इंसाफ’ ने लिखा कि तेंदुलकर जैसे क्रिकेटर रोज पैदा नहीं होते. सभी उनसे बेपनाह मुहब्बत करते हैं और उनकी इज्जत करते हैं. वहीं ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ और ‘डेली टाइम्स’ ने उन्हें मुकम्मल बल्लेबाज बताया. जिससे तालिबानी खासे नाराज लग रहें हैं और इसी कारण उन्होंने पाक मीडिया को धमकाने के लिये वीडियो संदेश जारी किया है.

तहरीक-ए-तालिबान

तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान जिसे कभी-कभी सिर्फ़ टी-टी-पी या पाकिस्तानी तालिबान भी कहते हैं, पाकिस्तान-अफ़ग़ानिस्तान सीमा के पास स्थित संघ-शासित जनजातीय क्षेत्र से उभरने वाले चरमपंथी उग्रवादी गुटों का एक संगठन है. यह अफ़ग़ानिस्तान की तालिबान से अलग है हालांकि उनकी विचारधाराओं से काफ़ी हद तक सहमत है. इनका ध्येय पाकिस्तान में शरिया पर आधारित एक कट्टरपंथी इस्लामी अमीरात को क़ायम करना है. इसकी स्थापना दिसंबर 2007 को हुई जब बेयतुल्लाह महसूद​ के नेतृत्व में 13 गुटों ने एक तहरीक में शामिल होने का निर्णय लिया. जनवरी 2013 में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने घोषणा करी कि वे भारत में भी शरिया-आधारित अमीरात चाहते हैं और वहाँ से लोकतंत्र और धर्म-निरपेक्षता ख़त्म करने के लिए लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि वे कश्मीर में सक्रिय होने के प्रयास कर रहे हैं.

Tags: , , ,