भारतीय सेना से डर: पाक सेना

Friday, August 28, 2015

A A

कश्मीर में सेना

इस्लामाबाद | समाचार डेस्क: पाकिस्तानी सेना को एकमात्र डर भारतीय सेना से लगता है. पाकिस्तान की सेना का मानना है कि उसकी सीमा से लगे अफगानिस्तान तथा ईरान उसके लिये खतरे की बात नहीं है. पाकिस्तानी सेना ने सीनेट के सामने इस बात का खुलासा किया है. पाकिस्तान को इस बात की भई चिंता है कि भारत आने वाले समय में करीब 100 अरब डॉलर के हथियार खरीदने जा रहा है. पाक विशेषज्ञों का मानना है कि भारतीय सेना द्वारा खरीदे गये हथियारों में से 80 फीसदी पाकिस्तान को ध्यान में रखकर खरीदा गया है. पाकिस्तान के लिए भारत एकमात्र बाहरी खतरा है. यह बात पाकिस्तानी सेना ने सीनेट की रक्षा समिति के समक्ष कही है. समाचारपत्र ‘डॉन’ की वेबसाइट पर शुक्रवार को जारी रपट के अनुसार, जॉइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष जनरल रशद महमूद ने गुरुवार को सीनेट सदस्यों के समक्ष यह बात कही.

मुशाहिद हुसैन के नेतृत्व वाली सीनेट समिति को यह भी बताया गया कि भारत ने बीते कुछ वर्षो में 100 अरब डॉलर के हथियार खरीदे हैं, जिनमें 80 फीसदी पाकिस्तान को ध्यान में रखकर खरीदे गए हैं.

मीडिया रपट में कहा गया है कि भारतीय सेना अतिरिक्त 100 अरब डॉलर के हथियार खरीदेगी.

सैन्य अधिकारी ने सीनेट समिति को बताया कि दोनों देशों के बीच संवाद अवरुद्ध होने और किसी विवाद निपटान तंत्र के अभाव के कारण हालात नाजुक बने हुए हैं.

भारत और पाकिस्तान के बीच 1947 के बाद तीन बड़ी जंग हो चुकी है, इनमें 1999 का करगिल युद्ध भी शामिल है.

दोनों देशों की सेनाएं जम्मू एवं कश्मीर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर एक-दूसरे की सीमाओं पर आए दिन गोलीबारी करती रहती हैं. जाहिर है कि पाकिस्तान की सेना को एकमात्र डर भारत की सेना से ही है. जिसे उसने अपनी सीनेट समिति के सामने स्वीकार किया है.

Tags: , , ,