पाकिस्तान बिना शर्त वार्ता करेगा!

Sunday, November 29, 2015

A A

नवाज़ शरीफ़-प्रधानमंत्री

वालेटा | समाचार डेस्क: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने भारत से बिना शर्त वार्ता का पांसा फेंका है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ ने चोगम में ब्रिटिश प्रधानमंत्री से कहा है कि उऩका देश भारत के साथ स्तायी शांति के लिये बिना शर्त वार्ता को तैयार है. इसके बाद यह खबर मीडिया में हॉट केक बन गई. शायद पाक प्रधानमंत्री की मंशा भी यही है. हालांकि, नवाज़ शरीफ़ ने यह नहीं साफ किया है कि कश्मीर के अलगाववादी नेताओं खासकर हुर्रियत के प्रति उनके रुख़ में बदलाव आया है कि नहीं. इससे पहले मोदी सरकार के समय ही पाकिस्तान के साथ दो बार वार्ता इसलिये न हो सकी क्योंकि पाकिस्तान अलगाववादियों से भी पहले बात करना चाहता था.

नवाज़ शरीफ़ का बयान तब तक कोई मायने नहीं रखता है जब तक इसे जमीनी स्तर पर लागू न किया जाये. उल्लेखनीय है कि पाक में सैन्य लॉबी काफ़ी ताकतवर है तथा उसका विदेश नीति में सीधा हस्तक्षेप रहता है. बहरहाल, भारत सरकार के पास एक मौका और है जिसके तहत वह अपनी पहलकदमी दिखाकर पाकिस्तान को राजनयिक जवाब दे सकता है. गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि उनका देश स्थायी शांति के लिए भारत के साथ बिना किसी पूर्व शर्त के बातचीत के लिए तैयार है. ‘जियो न्यूज’ की रिपोर्ट के अनुसार, नवाज ने यह भी कहा कि उनका देश भारत और अफगानिस्तान सहित अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध चाहता है.

शरीफ चोगम में राष्ट्रमंडल देशों के शासनाध्यक्षों के सम्मेलन में शिरकत करने पहुंचे हैं. उन्होंने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन से यहां मुलाकात के दौरान यह बात कही.

दोनों नेताओं ने सभी क्षेत्रों, खासकर व्यापार, निवेश और सुरक्षा के क्षेत्र में साझेदारी जारी रखने पर सहमति जताई.

नवाज ने कहा कि पाकिस्तान हर तरह से आतंकवाद की निंदा करता है और उसे हाल ही पेरिस में हुए आतंकवादी हमलों के लिए दुख है.

उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान खुद भी आतंकवादी हमलों का पीड़ित रहा है और वह फ्रांस का दर्द समझ सकता है.

कैमरन ने आतंकवाद और चरमपंथ को समाप्त करने के लिए पाकिस्तान के प्रयासों की सराहना की.

Tags: , , ,