पीटीवी से खदेड़े गये प्रदर्शनकारी

Monday, September 1, 2014

A A

पाकिस्तान टीवी

इस्लामाबाद | एजेंसी: पाकिस्तान की सेना ने पीटीवी के दफ्तर में घुसे प्रदर्शनकारियों को बाहर खदेड़ दिया. प्रदर्शनकारियों के घुसने से इस्लामाबाद में चैनल का प्रसारण बाधित हो गया था. समाचार पत्र ‘डॉन’ की वेबसाइट के अनुसार, पीटीवी के अधिकारियों ने कहा कि चैनल का प्रसारण बहाल कर दिया गया है.

पीटीवी ने ट्वीट में लिखा, “पीटीवी वर्ल्ड और न्यूज का प्रसारण फिर से शुरू कर दिया गया है.”

पीटीवी के प्रबंध निदेशक मोहम्मद मलिक ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने टेलीविजन के मुख्यालय से लाखों रुपये के कैमरे चुरा लिए और दफ्तर के अंदर केबल को भी नुकसान पहुंचाया.

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की प्रवक्ता शीरन मजारी ने कहा कि चैनल के दफ्तर पर हमले की घटना अस्वीकार्य है. हमले में शामिल लोगों को सजा मिलनी चाहिए.

उधर, पीटीआई नेता इमरान खान ने कहा कि पीटीआई समर्थक पीटीवी की इमारत में नहीं घुसे थे. उन्होंने कहा कि अगर पीटीआई समर्थक इमारत के अंदर मिलते हैं, तो उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया जाएगा.

इमरान ने कहा, “मैं प्रदर्शनकारियों से क्षेत्र के अंदर कोई भी हिंसक गतिविधि और उन कृत्यों को करने से बचने की अपील करता हूं, जिनसे पार्टी की बदनामी हो.”

इस बीच, सेना प्रमुख राहिल शरीफ देश में जारी राजनीतिक संकट को लेकर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से बातचीत कर रहे हैं.

इससे पहले इमरान खान ने प्रदर्शनकारियों को पिछले 15 दिन के प्रदर्शन के लिए बधाई देते हुए शांतिपूर्ण रहने और किसी भी तरह की हिंसक गतिविधि से दूर रहने के के निर्देश दिए थे.

उन्होंने पाकिस्तान अवामी तहरीक के प्रमुख ताहिर-उल कादरी से भी अपने समर्थकों को शांतिपूर्ण तथा अहिंसक रहने का निर्देश देने के लिए कहा था.

उधर, इस्लामाबाद में प्रदर्शनकारी सचिवालय क्षेत्र से बाहर निकलकर प्रधानमंत्री आवास की ओर बढ़ गए थे.

यह विरोध-प्रदर्शन 15 अगस्त को पीटीआई प्रमुख इमरान खान और पीएटी प्रमुख कादरी की अगुवाई में नवाज शरीफ को हटाए जाने की मांग को लेकर शुरू हुआ था. शरीफ पर वर्ष 2013 के आम चुनावों में धांधली करने का आरोप है. इमरान और कादरी नवाज से प्रधानमंत्री पद से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

Tags: , , , , , , , ,