वोट नहीं, विकास की राजनीति हो: मोदी

Saturday, November 16, 2013

A A

नरेंद्र मोदी-प्रधानमंत्री

रायपुर | एजेंसी: भाजपा के पीएम इन वेटिंग नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश को वोट की नहीं बल्कि विकास की राजनीति चाहिए. शुक्रवार को आयोजित सभाओं को संबोधित करते मोदी ने कहा कि कांग्रेस वोट की राजनीति करती है और भाजपा विकास की राजनीति.

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर प्रहार करते हुए कहा कि मैडम और शहजादे महंगाई पर बात क्यों नहीं करते? उन्होंने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि वे इंडोर में जाते हैं, आउटडोर में नहीं. इंडोर में भी खिलाड़ी या एम्पायर के रूप में नहीं, बल्कि स्कोर लिखने के लिए जाते हैं.

मोदी ने कहा कि कांग्रेस की केंद्र सरकार ने देश को बर्बाद कर दिया है. कांग्रेस वोट बैंक की राजनीति करती है जबकि हम लोकतंत्र की बात करते हैं. कांग्रेस का लोकतंत्र में कोई भरोसा नहीं है. कांग्रेस 24 प्रतिशत वोट को साध कर राज करना चाहती है.

छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार और मुख्यमंत्री रमन सिंह के कार्यो की सराहना करते हुए मोदी ने कहा कि 10 साल तक विपरीत परिस्थितियों का सामना करते हुए रमन ने इतना अधिक कार्य किया है तो जब मई के बाद देश में और छत्तीसगढ़ में भी भाजपा की सरकार होगी तो छत्तीसगढ़ का 10 गुना विकास हो जाएगा.

मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में रमन सिंह के विकास कार्यो की आंधी चल रही है. इसके बावजूद सचिन तेन्दुलकर से सबक लेते हुए पोलिंग बूथ के लिए नेट प्रेक्टिस करना है. मोदी ने कहा कि 2014 में जब देश में भाजपा की सरकार आयेगी तो देश में सबका विकास होगा. उन्होंने कहा कि दिल्ली से कांग्रेस का जाना तय है, कांग्रेस पार्टी बहुरूपिया है. यह अपना नाम, निशान और नारा बदलती रहती है, लेकिन नीयत नहीं बदलती.

छत्तीसगढ़ के संदर्भ में उन्होंने कटाक्ष किया कि कांग्रेस का हाल पुरानी फिल्मों की तरह है, जिसमें किसी लड़की को दिखाते हैं और मंडप में किसी दूसरी लड़की को बैठा देते हैं. कांग्रेस दिखाये तो सही, हम भी देखें कि रमन के सामने कौन है.

मोदी से पहले सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री रमन सिंह ने पार्टी के प्रत्याशियों को विजयी बनाने की अपील की. उन्होंने कहा कि हम 10 बार केंद्र सरकार को चिट्ठी लिख चुके हैं कि धान का समर्थन मूल्य 2000 रुपये किया जाए, लेकिन मनमोहन और सोनिया ने नहीं सुनी है. अब चुनाव में कांग्रेसी कह रहे हैं कि सत्ता में आये तो 2000 रुपये समर्थन मूल्य देंगे. कागज में कहने की जरूरत क्या है? दिल्ली में कांग्रेस की सरकार है.