नेपाल में बैन maggi

Friday, June 5, 2015

A A

नेपाल

काठमांडू | समाचार डेस्क: नेपाल सरकार ने भारतीय टू मिनट्स नूडल्स मैगी पर अपने देश में पूर्णतः प्रतिबंध लगा दिया है. दरअसल, मैगी नूडल्स का नेपाल भारत से आयात किया करता था जिस पर रोक लगा दी गई है. नेपाल सरकार ने अपने लैब में मैगी की जांच कराने का आदेश दे दिया है. नेपाल की सरकार ने भारतीय नूडल्स उत्पाद मैगी की बाजार में बिक्री और उसके आयात पर अनिश्चितकाल के लिए प्रतिबंध लगा दिया है.

अधिकारियों ने यहां कहा कि नूडल्स इस देश में बहुत लोकप्रिय व्यंजन बनता जा रहा है. मैगी के साथ-साथ अन्य घरेलू नूडल्स की गुणवत्ता को लेकर सख्त जांच कराई जाएगी.

कृषि विकास मंत्रालय के सचिव उत्तम कुमार भट्टराई ने गुरुवार को कहा, “हां, भारत में पैदा हुए विवाद को देखते हुए हमने नेपाल में मैगी की बिक्री और उसके आयात पर रोक लगा दी है.”

उन्होंने आगे कहा कि उनका मंत्रालय शुक्रवार को एक सार्वजनिक नोटिस जारी करने जा रहा है, जिसमें उपभोक्ताओं से भारत में उपजे विवाद को देखते हुए मैगी न खाने का आग्रह किया जाएगा.

नेपाल का खुद का नूडल्स बाजार काफी बड़ा है और नेपाली नूडल्स ब्रांड जैसे वाई-वाई भारत में काफी लोकप्रिय है.

भट्टराई ने कहा कि मैगी पर यह प्रतिबंध अगले आदेश तक जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि कुछ नमूनों को प्रयोगशाला में जांच के लिए भी भेजा गया है ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या भारत की तरह ही नेपाल की मैगी में भी सीसे की मात्रा तय सीमा से अधिक है.

सरकार ने लोगों से आग्रह किया है कि वे मैगी न खाएं और विक्रेताओं से भी उत्पाद लौटाने को कहा है. डिपार्टमेंट ऑफ फूड टेक्नोलॉजी एंड कंट्रोल ऑफ नेपाल ने भारत और नेपाल में मैगी के बढ़ते विरोध को देखते हुए पहले ही सरकार से अनुशंसा की थी कि वह भारतीय नूडल्स की बिक्री को प्रतिबंधित कर दे.

विभाग ने मैगी के मुख्य वितरक को बुलाकर उन्हें अपने उत्पाद की बिक्री बंद करने का निर्देश दिया था. सरकार ने इंटरनेशनल फूड सेफ्टी नेटवर्क से मैगी के उत्पादों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने का आग्रह किया है.

नेपाल के विक्रेताओं ने बताया कि यहां पर वाई-वाई के बाद मैगी एक लोकप्रिय उत्पाद है. मैगी का सूप यहां सर्वाधिक लोकप्रिय है.

Tags: , ,