नासा को नया उपग्रह मिला

Tuesday, July 16, 2013

A A

वरुण का नया उपग्रह मिला

वाशिंगटन | एजेंसी: अंतरिक्ष दूरबीन हब्बल ने सौरमंडल के आठवें ग्रह वरुण की कक्षा में एक नए उपग्रह की खोज की है. यह जानकारी अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने दी है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, नासा ने एक वक्तव्य जारी कर बताया है कि एस/2004 एन 1 नामक इस उपग्रह का व्यास 19 किलोमीटर है, जो कि वरुण का सबसे छोटा उपग्रह है.

यह बेहद छोटा और धुंधला है जो खुली आंखों से देखे जा सकने वाले तारे से 10 करोड़ गुणा ज्यादा धुंधला है, जिस वजह से यह नासा के वोयेगर 2 अंतरिक्षयान से नहीं ढूंढा जा सका.

अमेरिका की गैर लाभकारी विज्ञान शोध संस्था एसईटीआई इंस्टीट्यूट के मार्क शोवाल्टर ने वरुण के आसपास के वातावरण का अध्ययन करने के दौरान एक जुलाई को इसकी खोज की थी.

शोवाल्टर ने कहा है, “उपग्रह और उसके वृत्त खंड तेजी से चक्कर काट रहे थे, इसलिए इसकी पूरी जानकारी जुटाने और इसकी गति पर नजर रखने के लिए उपाय ढूंढ़ने पड़े.”

उन्होंने कहा, “यह वैसा ही था जैसे खेल फोटोग्राफर दौड़ते हुए एथलीट की तस्वीर लेता है. एथलीट हमेशा केंद्र में रहता है, लेकिन उसकी पृष्ठभूमि धुंधली रहती है.”

इस सिद्धांत का इस्तेमाल सफेद धब्बे की गति को पकड़ने में किया गया है, जिसका पता 2004-09 के बीच ली गई 150 तस्वीरों से चला.

शोवाल्टर ने यह पाया है कि सफेद धब्बा वरुण के उपग्रह लारिसा और प्रोटियास की कक्ष में वरुण से लगभग 10 लाख किलोमीटर दूर स्थित है.

Tags: , , ,