चौकीदार ने उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाया

Friday, April 25, 2014

A A

मोदी और राहुल

ललितपुर | एजेंसी: राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात के चौकीदार नरेंद्र मोदी ने कुछ उद्योगपतियों को अरबों का फायदा पहुंचाया.

झांसी-ललितपुर संसदीय क्षेत्र के तुवन मंदिर प्रांगण में जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, “मोदी जी कहते हैं मैं पूरे हिंदुस्तान का चौकीदार बनना चाहता हूं. उन्होंने 10 वर्षो तक गुजरात की चौकीदारी की और 45 हजार एकड़ जमीन उद्योगपतियों को 1 रुपये प्रति मीटर दे दिया. वह जमीन किसान, मजदूर की थी. अब वही मजदूर मनरेगा में काम कर रहे हैं.”

उन्होंने कहा, “गौतम अडाणी की 10 वर्ष पहले 3 हजार करोड़ रुपये की कंपनी थी, जो आज 40 हजार करोड़ रुपये की कंपनी हो गई है. 26 हजार करोड़ रुपये का बिजली का ठेका दिया, 10 हजार करोड़ रुपये की जमीन दे दी. मतलब 35 हजार करोड़ रुपये एक व्यक्ति को दिया, साझेदारी में.”

राहुल ने कहा, “जितना पैसा हम मनरेगा में देते हैं, उतने गुजरात के चौकीदार ने एक व्यक्ति को दे दिया. आप सभी शिक्षा, चिकित्सा, दवा का पैसा जोड़ दें तो उसका 10 करोड़ रुपये होता है और उसका तीन गुना उन्होंने एक व्यक्ति को पकड़ा दिया, जो कि अडानी है.”

फोन टैपिंग मामले पर मोदी को आड़े हाथों लेते हुए राहुल ने कहा कि भाजपा शासित छत्तीसगढ़ में 20 हजार महिलाएं गायब हो गईं तो वहीं बेंगलुरू में महिलाओं की पिटाई करने का आरोप भाजपा के लोगों पर लगा है.

राहुल ने संप्रग सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि 70 हजार करोड़ रुपये का किसानों का कर्जा माफ किया गया, किसानों के लिए बैंकों के दरवाजे खोले गए, जबकि राजग सरकार ने किसानों को अनदेखी की. सिर्फ इंडिया शाइनिंग का शिगूफा छोड़ दिया, जिसकी हवा निकल गई.

बुंदेलों की धरती पर स्वदेशी का मुद्दा उठाते हुए राहुल ने देश में ‘मेड इन चाइना’ लिखी वस्तुओं के आधिपत्य को खत्म करने और क्षेत्रीय स्तर पर उत्पादों की पहचान कायम कराने का भरोसा दिलाया.

राहुल का ललितपुर आना इसलिए भी अहम है, क्योंकि इस सीट से उनके करीबी और केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य सांसद हैं. जैन को इस बार भाजपा की उमा भारती और बसपा प्रत्याशी व सतीश चंद्र मिश्रा की रिश्तेदार अनुराधा शर्मा से कड़ी चुनौती मिल रही है.

बुंदेलखंड के लोगों की नब्ज टटोलते हुए रोजगार को मुद्दा बनाकर राहुल ने कहा कि वह इस क्षेत्र के लोगों को रोजगार देना चाहते हैं, इसलिए केंद्र सरकार ने उद्योग लगाने के लिए जापान से साझेदारी की है.

उन्होंने कहा कि अभी तक मोबाइल, लैपटॉप और ज्यादातर सामानों पर ‘मेड इन चाइना’ लिखा रहता है. यहां का पैसा चीन चला जाता है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. उनकी सरकार आने के बाद लैपटॉप हो या मोबाइल, सभी पर ‘मेड इन बुंदेलखंड’, ‘मेड इन झांसी’, ‘मेड इन ललितपुर’ लिखा होगा.

उन्होंने कांग्रेस की सरकार बनने पर बुंदेलखंड के हर गरीब के सिर पर छत और हर बेराजगार को रोजगार देने का वादा भी किया और कहा कि लोगों को स्वास्थ्य और चिकित्सा का पूर्ण अधिकार दिया जाएगा तथा गरीबों का मुफ्त इलाज और ऑपरेशन का पूरा खर्च सरकार उठाएगी.

राहुल शुक्रवार को आंध्र प्रदेश के वारंगल भी पहुंचे. यहां उन्होंने कहा कि तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) तेलंगाना राज्य गठन को लेकर गंभीर नहीं है. उन्होंने कांग्रेस के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को किसान-हितैषी बताते हुए उठाए गए कदमों से किसानों को अवगत कराया.

एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा, “जब हम संसद में पेश करने के लिए तेलंगाना विधयेक का मसौदा तैयार कर रहे थे, उस दौरान टीआरएस ने कभी मदद नहीं की, इसलिए वह इसका श्रेय लेने की हकदार नहीं है.”

उन्होंने यह भी कहा कि जब तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री थे, उस समय किसानों की हालत दयनीय हो गई थी.

संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के पक्ष में मतदान करने की अपील करते हुए राहुल ने कहा, “वर्ष 2004 में जब संप्रग सत्ता में आई, हमने किसानों के लिए बैंकों के दरवाजे खोल दिए, ताकि वे आसान किस्तों पर कर्ज ले सकें. हमने किसानों के 70,000 करोड़ रुपये के कर्ज भी माफ कर दिए.”

Tags: , , ,