भारत नौजवानों का देश: मोदी

Monday, September 29, 2014

A A

मैडिसन स्क्वॉयर में मोदी

नई दिल्ली | संवाददाता: मैडिसन स्क्वॉयर के संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने भारत को नौजवानों का देश कहा. भारतीय समयानुसार रविवार रात 9 बजे के बाद अमरीका के न्यूयार्क शहर के मैनहट्टन के मैडिसन स्क्वॉयर गार्डन में 18 हजार भारतीयों के सभा को संबोधित करते हुए भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आने वाले समय में भारत पर दुनिया के अन्य देश काम करने लायक युवकों के लिये निर्भर होंगे.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत की आबादी का 65 फीसदी 35 वर्ष से कम आयु का है. इसलिये भारत एक जवान देश है जिसमें काम करने की क्षमता है. आने वाले समय में दुनिया में काम करने वालों लोगों के लिये लोग भारत पर आश्रित हो जायेंगे. उन्होंने भारतवंशियों के महती सभा में यह उदगार रखें कि हम आने वाले भारत के लिये काम कर रहें हैं तथा हमारी सरकार छोटे-छोटे काम करके देश को बड़ा बनाने का कार्य कर रही है.

अपनी अमरीका यात्रा के दौरान भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने न्यूयार्क के मैडिसन स्क्वॉयर में करीब 18हजार लोगों की भीड़ को संबोधित किया. उल्लेखनीय है कि मोदी को सुनने के लिये कई अमरीकी सांसद भी वहां पर उपस्थित थे. यह वही मैडिसन स्क्वॉयर है जहां पर 2005 में मोदी का स्वागत होना था. सभा स्थल में इतनी भीड़ थी कि लोगों को मोदी का भाषण सुनाने के लिये बाहर टीवी स्क्रीन का बंदोबस्त किया गया था.

प्रधानमंत्री मोदी ने अमरीका में रहने वाले भारतीयों से अनुरोध किया कि देश के लिये जो कुछ भी बनता है करें. उन्होंने विस्तार से अपनी बात उपस्छित समुदाय के सामने रखते हुए कहा कि अमरीका दुनिया का सबसे पुराना लोकतंत्र है तथा भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है. अमरीका तथा भारत की समानता की व्याखा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अमरीका में दुनिया के हर देश से लोग आकर बसते है तथा दुनिया के किसी भी देश में चले जायें वहां आपकों भारतीय अवश्य मिलेंगे. यही भारत की ताकत है.

प्रधानमंत्री मोदी ने भारत की खूबिया गिनाते हुए याद दिलाया कि भारत की जनसंख्या विशाल है, तथा यहां का लोकतंत्र मजबूत है . भारत के लोकतंत्र की मजबूती के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के समय भीषण गर्मी में भी ऐसे लोगों ने मतदान किया जिनके तन पर पूरे कपड़े तक नहीं थे. उन्ही लोगों ने बदलाव के लिये वोट दिया. यह भारत में ही हो सकता है कि वोट के माध्यम से देश के भविष्य का निर्धारण किया जाये.

Tags: , , , , , , ,