मीडिया में छाया मोदी फैशन

Saturday, June 7, 2014

A A

नरेन्द्र मोदी-पीएम

वाशिंगटन | एजेंसी: चुनावी सफलता के बाद मोदी का फैशन अब अमरीकी मीडिया में चर्चा का विषय है. गौरतलब है कि मोवाडो घड़ी और वल्गारी चश्मे में विशेष झुकाव रखने वाले एक राजनेता के रूप में मोदी का स्टाइल गजब का है.

चुनाव में अद्भुत विजय की बदौलत अमरीकी मीडिया के लिए नरेंद्र मोदी एक अस्वीकार्य व्यक्ति से एक फैशन आयकन बन गए हैं. संभवत: सितंबर महीने में मोदी की आगवानी की तैयारी में अमरीका जुट गया है.

वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार, “भले ही मोदी की छवि एक हिंदुवादी नेता की हो, लेकिन ऐसा नहीं है कि वे यूरोपियन डिजाइनर को पसंद नहीं करते.”

पोस्ट के अनुसार, “मोदी चश्मा वल्गारी का और घड़ी मोवाडी की पसंद करते हैं. एक पारंपरिक व्यक्ति के लिए ये दोनों चीजें थोड़ी अलग है, लेकिन उनका विचार बिल्कुल एक बिजनेसमैन की तरह है.”

मोदी और ओबामा के बीच सितंबर में होने वाली बैठक के पहले अमरीका के तीन बड़े मीडिया प्रकाशन टाइम, न्यूयॉर्क टाइम्स और वाशिंगटन टाइम्स ने मोदी के खास पहनावा ‘मोदी कुर्ता’ का जिक्र किया है. इससे ऐसा लगता है कि वे भारत के इस नए राजनेता के व्यक्तित्व की टोह ले रहे हैं.

टाइम लिखता है, “भारत के नए प्रधानमंत्री देश के नए फैशन आयकन हैं” इससे संकेत मिलता है कि नरेंद्र मोदी जो पूर्व में विवादित रहे हैं, अब अपने विशिष्ट स्टाइल सेंस के लिए जाने जा रहे हैं.

टाइम कहता है, “उनके नेतृत्व में गुजरात की आर्थिक व्यवस्था बहुत बेहतर हुई, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था, लेकिन 2002 में 1 हजार लोगों की जान लेने वाले गोधरा में हुए दंगे में उनकी भूमिका पर अभी भी सवाल है.”

न्यूयॉर्क टाइम्स, नरेंद्र मोदी : ए लीडर हू इज व्हाट ही वियर्स में लिखता है, “दुनिया के मानदंडों पर गौर करें, तो गजब का कौशल रखने वाले भारत के नए प्रधानमंत्री मोदी और फैशन अध्ययन का विषय है.”

टाइम कहता है, “सचमुच भारत के मानदंडों पर गौर करें, तो वहां के नेता पहनावे का उपयोग संचार की वस्तु के तौर पर करते हैं. मोदी इस मामले में पूरी तरह से कूटनीतिक तौर पर भी सबसे अलग हैं.”

ज्ञात हो कि वाशिंगटन पोस्ट, न्यूयॉर्क टाइम्स तथा टाइम अमरीका के ही नहीं वरन् दुनिया के नामी प्रकाशन हैं. इनके द्वारा मोदी के फैशन की प्रशंसा करने से इस बात का संकेत मिलता है कि अमरीकी प्रशासन के बाद अब अमरीकी मीडिया जो कि बड़े औद्योगिक घराने द्वारा संचालित होते हैं, मोदी के प्रति झुकाव रखते हैं.

Tags: , , ,