मेसी, माराडोना और चे

Thursday, June 26, 2014

A A

लियोनेल मेसी

नई दिल्ली | विशेष संवाददाता: मेसी, माराडोना और चे ऐसे दीवाने हैं, जिनकी दुनिया दीवानी है. बुधवार रात को नाइजीरिया को 2 गोल दाग कर लियोनेल मेसी ने इसको सच साबित कर दिया है.

इन तीनों में एक समानता यह है कि इन तीनों का जन्म अर्जेटीना में हुआ है तथा मेसी और माराडोना को अनायस ही चे ग्वेरा की चित्र वाली टी शर्ट पहने देखा जा सकता है. मेसी तथा माराडोना ने जहां फुटबाल की दुनिया मे अर्जेटीना का नाम रौशन किया है वहीं चे ग्वेरा आज भी मुक्ति की चाहत रखने वाले युवाओं तथा बूढ़ों के बीच में आज भी उतने ही लोकप्रिय हैं.

अपने फुटबाल के प्रति इसी दीवानगी के चलते अर्जेंटीना के स्टार स्ट्राइकर लियोनेल मेसी ने एक बार फिर अपने करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत फीफा विश्व कप-2014 के अपने आखिरी ग्रुप मुकाबले में दो गोल कर अर्जेंटीनी टीम को नाइजीरिया पर 3-2 से जीत दिला दी. इसके साथ ही अर्जेंटीना ग्रुप-एफ में अविजित रहते हुए विश्व कप के नॉकआउट दौर में पहुंच गया, जहां उसका मुकाबला इक्वाडोर या स्विट्जरलैंड में से किसी टीम से होगा.

ईरान के खिलाफ मेसी जहां मैच के आखिरी पलो में अर्जेंटीना के लिए मैच जिताऊ जादुई गोल कर सके थे, वहीं बुधवार को एस्टेडियो बेइरा रियो में नाइजीरिया के खिलाफ उन्होंने मैच के तीसरे मिनट में ही टीम का खाता खोल दिया. इससे ठीक पहले एंजेल डी मारिया ने नाइजीरिया के गोलपोस्ट के बाएं निचले कोने की ओर शानदार शॉट लगाया, जिसे नाइजीरिया के गोलकीपर विंसेंट एनीएमा ने खूबसूरती से बचा लिया. हालांकि रिबाउंड होकर लौटी गेंद को मेसी ने दोबारा नाइजीरिया के गोलपोस्ट में धकेलने में कोई चूक नहीं की.

वहीं, नाइजीरिया के अहमद मूसा ने हालांकि मात्र 80 सेकेंड के भीतर गोल कर अर्जेंटीना को बढ़त को 1-1 से बराबरी पर ला दिया. अर्जेंटीना ने इसके बाद मध्यांतर तक गोल के तीन बेहतरीन प्रयास किए, लेकिन गोंजालो हिगुएन का शॉट जहां वाइड चला गया, वहीं एंजेल डी मारिया और मेसी के बेहतरीन शॉटों को एनिएमा ने बहुत ही खूबसूरती से बचा लिया.

मेसी ने हालांकि 44वें मिनट में काफी दूरी से लगाए गए अपने शॉट को एनिएमा द्वारा रोके जाने के ठीक एक मिनट बाद ही अपना दूसरा गोल कर अर्जेंटीना को मध्यांतर तक 2-1 की बढ़त दिला दी. मध्यांतर तक अर्जेंटीना ने काफी आक्रामक फुटबाल का नजारा पेश किया. इस दौरान अर्जेंटीना 63 प्रतिशत समय तक गेंद पर कब्जा बनाए रखा और गोल के 10 मौके बनाए. इनमें से नाइजीरिया के गोलपोस्ट की ओर लगाए गए सात शॉटों में से दो में उन्हें सफलता मिली.

मध्यांतर के ठीक बादा अहमद मूसा ने एक बार फिर 47वें मिनट में गोल कर नाइजीरिया को 2-2 की बराबरी पर ला दिया. गोलपोस्ट के बेहद नजदीक रिटर्न के जरिए जब मूसा को पास मिला तो उनके सामने गोलपोस्ट के बीच सिर्फ अर्जेंटीना के गोलकीपर रोमेरे थे, जिन्हें आसानी से छकाते हुए मूसा ने अपना दूसरा गोल दाग दिया.

अब मैच बेहद रोमांचक मोड़ की ओर बढ़ता लग रहा था, लेकिन तीन मिनट बाद ही 50वें मिनट में एजेक्वीएल लावेज्जी ने कॉर्नर शॉट के जरिए गोल के नजदीक मार्कोस रोजो को पास दिया, जिसे रोजो ने गोल का रास्ता दिखा दिया. रोजो का यह गोल अर्जेंटीना के लिए विजयी गोल साबित हुआ. मैच की समाप्ति तक अर्जेंटीना लगभग नाइजीरिया के गोलपोस्ट के नजदीक ही बना रहा और कई शानदार शॉट लगाए, हालांकि नाइजीरिया के गोलकीपर एनिएमा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए इसके बाद कोई गोल नहीं होने दिया.

उल्लेखनीय है कि 24 जून को अपने 27वें जन्म दिन पर मेसी ने कहा कि वह विश्व कप को अपने जन्म दिन के तोहफे के रूप में चाहते हैं. यदि इस बार अर्जेंटीना को विश्व कप मिलता है तो वह निश्चित तौर पर मेसी की बदौलत ही होगा.

Tags: , , ,