केंद्र के जातिवाद पर बरसी मायावती

Wednesday, October 9, 2013

A A

मायावती

लखनऊ | एजेंसी: बसपा नेता मायावती ने राहुल गांधी पर पलटवार किया है. बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने बुधवार को कहा कि केंद्र की सत्ता में काबिज कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार ने कांशीराम के देहांत होने पर, एक दिन का भी राष्ट्रीय शोक घोषित न करके दलित विरोधी व जातिवादी मानसिकता का परिचय दिया है और इसके लिए बसपा इस पार्टी को कभी माफ नहीं करेगी. पुण्यतिथि के मौके पर मायावती ने एक बयान जारी कर कहा, “कांशीराम का सम्पूर्ण जीवन बाबा साहेब डा़ भीमराव अम्बेडकर के ‘आत्मसम्मान के मानवतावादी मूवमेन्ट’ के अधूरे कारवां को सामाजिक सद्भाव के आधार पर देश में ‘समतामूलक समाज’ की स्थापना के लिए समर्पित रहा है.”

उन्होंने कहा कि बसपा के आंदोलन को लेकर कांशीराम की त्याग-तपस्या एवं संघर्ष को भुलाया नहीं जा सकता है. यही कारण है कि उत्तर प्रदेश में बसपा की चार बार सरकार बनी.

मायावती ने कहा कि बसपा हमेशा ही कांशीराम के बताए रास्ते पर चलकर, गै़र-बराबरी वाली सामाजिक व्यवस्था को समाप्त करने एवं सर्वसमाज के सभी वर्गो के हितों के लिए लगातार काम करती रहेगी.

इससे पूर्व बसपा के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने पार्टी के संस्थापक कांशीराम को बुधवार को उनकी सातवीं पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्घांजलि अर्पित की. इस अवसर पर राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश में जगह-जगह कार्यक्रम आयोजित किए गए.

लखनऊ में कांशीराम स्मारक स्थल व राष्ट्रीय दलित प्रेरणा स्थल में आज के दिन विशेष श्रद्घांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया था, जिसमें पार्टी ने प्रदेश भर से समर्थकों को बुलाया था.

बसपा महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी, स्वामी प्रसाद मौर्य, प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर समेत कई नेताओं ने कांशीराम को श्रद्घासुमन अर्पित कर उन्हें याद किया.

इस कार्यक्रम में बसपा प्रमुख मायावती को भी भाग लेना था लेकिन वह यहां नहीं आईं. पार्टी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार मायावती ने बुधवार सुबह नई दिल्ली में 12, गुरूद्वारा रकाबगंज रोड पर स्थापित ‘बहुजन प्रेरणा केन्द्र’ में बसपा आंदोलन के जन्मदाता कांशीराम की विशाल प्रतिमा पर पुष्पांजलि करके उन्हें अपना श्रद्घा-सुमन अर्पित किया.

Tags: , ,