माया-मुलायम अब बचाएंगे सरकार

Tuesday, March 19, 2013

A A

मुलायम सिंह और मायावती

डीमके द्वारा केंद्र सरकार से समर्थन वापसी की घोषणाओं के बीच सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और बसपा नेता मायावती ने सरकार को समर्थन का भरोसा दिया है. मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि करुणानिधि सरकार को ब्लैकमेल कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर मायावती ने मनमोहन सिंह सरकार को लगातार समर्थन जारी रखने का भरोसा दिलाया है .

गौरतलब है कि इससे पहले श्रीलंका में तमिलों के मानवाधिकार उल्लंघन के मुद्दे को लेकर यूपीए सरकार को झटका देते हुए डीएमके प्रमुख एम.करुणानिधि ने आज समर्थन वापसी की घोषणा कर दी थी. करुणानिधि ने मांग की थी कि केंद्र सरकार श्रीलंका के गृहयुद्ध के बारे में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के प्रस्ताव में संशोधन का प्रस्ताव संसद से पास कराए और साथ ही मामले की स्वतंत्र और प्रमाणिक जाँच करें.

लेकिन यूपीए सरकार ने डीएमके की मांग को ठुकरा दिया जिसके बाद करुणानिधि ने यह कहते हुए सरकार से समर्थन की वापसी की घोषणा कर दी कि इस सरकार में बने रहना तमिलों के साथ अन्याय होगा. उल्लेखनीय है कि डीएमके के संसद में 18 संसद है और उसके समर्थन वापस लेने से यूपीए सरकार के पास केवल 224 सांसदों का ही समर्थन बचा है.

डीएमके के इस तरह समर्थन वापस लेने के बाद यूपीए सरकार की सारी उम्मीदें समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव और बहुजन समाज पार्टी अध्यक्षा मायावती पर ही टिकीं है. ऐसे में यूपीए के लिए राहत की बात ये है कि दोनों ही नेताओं ने सरकार के साथ अपना समर्थन बनाए रखने का फैसला किया है.