मनरेगा में गड़बड़ी से निलंबन,बर्खास्त

Thursday, January 23, 2014

A A

मनरेगा

भोपाल | एजेंसी: मध्य प्रदेश में मनरेगा के क्रियान्वयन में लापरवाही बरतने वाले 3 अधिकारियों को नुलंबित तथा 3 को बर्खास्त कर दिया गया है. मनरेगा में संचालित विभिन्न उप-योजनाओं की प्रगति की राज्य स्तर पर सतत मॉनीटरिग हो रही है.

मनरेगा आयुक्त डा. रविंद्र पस्तोर ने संभागायुक्त और जिलाधिकारियों को मनरेगा के अमल में लापरवाही और ढिलाई बरतने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों के कार्यो की समीक्षा कर उनके खिलाफ सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं.

मनरेगा में उत्तरदायित्वों के निर्वहन में लापरवाही बरतने पर ही संभागायुक्त सागर आऱ.के. माथुर ने तीन अधिकारियों को निलंबित कर दिया है. कपिलधारा कुओं के कार्य पर पूर्णत: प्रमाणपत्र जारी न करने के मामले में सहायक यंत्री मनरेगा, जनपद पंचायत बिजावर जिला छतरपुर को निलंबित किया गया है.

उप-यंत्री जनपद पंचायत बक्सवाहा जिला छतरपुर को मनरेगा कार्यो का समय पर मूल्यांकन न करने की वजह से निलंबित किया गया. जनपद पंचायत टीकमगढ़ के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उदयराज सिंह को निर्धारित लक्ष्यों को पूरा न करने और लापरवाही बरतने के मामले में निलंबित किया गया है.

मनरेगा कार्यो में ढिलाई बरतने के मामलों में तीन अधिकारियों की संविदा सेवाएं समाप्त किए जाने के निर्देश हैं. ग्राम रोजगार सहायक, ग्राम पंचायत राला, जनपद पंचायत नसरूल्लागंज जिला सीहोर, हरिओम सिंह हरियाले की संविदा सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं.

सहायक लेखाधिकारी जनपद पंचायत शैगांव, जिला खरगोन सईद खान को निर्धारित समयावधि में जनपद पंचायत कार्यालय में मास्टर रोल जमा होने जाने के बावजूद भुगतान की कार्रवाई नहीं करने का दोषी पाया गया.

इस वजह से सईद खान की संविदा सेवाएं समाप्त कर दी गईं. भुगतान संबंधी कार्रवाई में जान-बूझकर गड़बड़ी करने और भुगतान बाधित करने के मामले में जिलाधिकारी एवं कार्यक्रम अधिकारी जिला अलीराजपुर ने सहायक लेखाधिकारी, जनपद पंचायत जोबट श्रीकृष्ण खन्ना की संविदा सेवाएं समाप्त करने के आदेश जारी किए हैं.

Tags: , , ,