आंध्र में तूफान ‘लहर’ का खतरा

Wednesday, November 27, 2013

A A

चक्रवात

नई दिल्ली | एजेंसी: भारत मौसम विज्ञान विभाग ने बताया है कि `लहर’ तूफान आंध्रप्रदेश की ओर बढ़ रहा है. बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती तूफान से `लहर’ बना है. अधिकारियों ने कहा कि तूफान गुरुवार को भारी नुकसान के साथ इसे पार कर सकता है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, “बेहद शक्तिशाली इस चक्रवाती तूफान का केंद्र मछलीपत्तनम के पूर्व-दक्षिणपूर्व से करीब 650 किलोमीटर और राज्य के काकीनाडा के पूर्व-दक्षिणपूर्व में 600 किलोमीटर आगे बना हुआ है.”

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, “चक्रवात पिछले छह घंटों के दौरान 15 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पश्चिम-उत्तरपश्चिम की ओर बढ़ा है.”

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने आंध्र प्रदेश और यनाम जिले में बुधवार शाम से भारी वर्षा या मूसलाधार बारिश होने की चेतावनी दी है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने समुद्र में मछली पकड़ने पर पूरी तरह रोक लगा दी है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग की विज्ञप्ति में कहा गया कि बुधवार शाम तक आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा तटों पर हवा की रफ्तार 45-55 किलोमीटर प्रति घंटा से बढ़कर 65 किलोमीटर प्रति घंटा होनी शुरू हो जाएगी.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि उठ रही करीब दो-तीन मीटर ऊंची खगोलीय ज्वार लहरें पश्चिम और पूर्व गोदावरी, आंध्र और यनाम के गुंटूर और कृष्णा जिलों के निचले इलाकों को डुबो देंगी.

लहर नामक यह तूफान आंध्र प्रदेश में दस्तक देने वाला दूसरा तूफान होगा. पिछले सप्ताह मछलीपत्तनम के करीबी तट पर दस्तक देने वाले हेलेन छह लोगों की जान ले चुका है.

Tags: , , ,