कोरबा डीएफओ पर कमीशनखोरी का आरोप

Tuesday, January 21, 2014

A A

कोरबा ठेकेदार

कोरबा | अब्दुल असलम: कोरबा वन मंडल के डी एफ ओ प्रभात मिश्रा पर एक ठेकेदार ने लाखो के बिल को पास करने कमीशन मांगने का आरोप लगाया है. ठेकेदार सदानंद भदोरिया का आरोप है कि इस गोरखधंधे में बीट गाड से लेकर सी एफ तक के अधिकारी भी शामिल हैं. भुगतान नहीं होने से नाराज ठेकेदार ने मंगलवार को डी ऍफ़ ओ कार्यालय से कूदकर आत्महत्या का प्रयास भी किया लेकिन कर्मचारीओ कि मदद से उसे बचा लिया गया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार बीआरजीएफ और जिला वनचन योजना के तहत वन विभाग ने एनजीओ के माध्यम से ठेकेदार सदानंद भदोरिया को काम आवंटित किया गया था. ठेकेदार का कहना है कि काम पूरा होने और विभागीय भौतिक सत्यापन के बावजूद वन विभाग कमिशन खोरी के कारण बिलो का भुगतान करने उसे विभाग का चक्कर लगवा रहा है.

ठेकेदार भदोरिया का कहना है कि डी एफ ओ प्रभात मिश्रा पिछले चार महिने से लगभग 10 लाख रुपये के भुगतान के लिए उससे 40 प्रतिशत कमीशन मांग रहा है. इसी मांग को लेकर मंगलवार को वन विभाग के दफ्तर मे ठेकेदार भदोरिया ने दो घंटे तक हंगामा किया और आत्महत्या का प्रयास किया. ठेकेदार ने जल्द ही भुगतान नहीं होने पर कार्यालय के सामने आत्महत्या करने कि धमकी दी है

ठेकेदार सदानंद भदोरिया के हंगामे के बाद सकते में आये डी.ऍफ़.ओ प्रभात मिश्रा ने उन पर कमीशनखोरी करने के आरोप पर सफाई देते हुए कहा कि चूंकि ठेकेदार दूवारा काम पूरा नहीं किया गया है और मौके पर सामान नहीं होने से भुगतान सम्बद्ध में कलेक्टर को ३ सदस्यीय टीम बनाने पत्र लिखा गया है जैसे ही जाँच रिपोर्ट प्राप्त होगी भुगतान कर दिया जायेगा

ठेकेदार सदानंद भदोरिया के हंगामे ने साफ कर दिया है कि वन विभाग में कमीशनखोरी का खेल नीचे से ऊपर अधिकारिओ में अमर बेल कि तरह फ़ैल चूका है. अब देखना यह है कि पीड़ित ठेकेदार सदानंद भदोरिया को उसकी मेहनत का पैसा कब तक मिल पता है.

Tags: , , , ,