कोरबा में आया मौसम भुट्टे का

Friday, March 7, 2014

A A

भुट्टे की खेती

कोरबा | अब्दुल असलम: ये नजारा है कोरबा जिले के ग्राम भटगांव में एक किसान की बाड़ी में लगी भुट्टे की फसल का. जल्दी ही ये भुट्टे कोरबा क्षेत्र के बाजारों में उपभोक्ताओं के लिए उपलब्ध हो जाएंगे.

भटगांव क्षेत्र में बालको-नाबार्ड ने वाटरशेड परियोजना क्रियान्वित की है. किसानों को आधुनिक कृषि का प्रशिक्षण दिया गया है. अनेक किसानों ने अपनी बाड़ियों में ड्रिप सिंचाई प्रणाली लगाई है जिससे उन्हें फसल उत्पादन बढ़ाने में मदद मिली है. ड्रिप सिंचाई की स्थापना में किसानों को जिला उद्यानिकी विभाग और बालको ने आर्थिक मदद दी है.

रूगबहरी के एक और भटगांव के 13 किसानों ने अपनी बाड़ियों में ड्रिप सिंचाई प्रणाली की स्थापना कर फसलों के जरिए आमदनी बढ़ाने में सफलता पाई है.

वाटरशेड परियोजना का उद्देश्य पर्यावरण संरक्षण-संवर्धन, हरियाली विकास और सिंचित क्षेत्र के रकबे में वृद्धि करना है. बालको-नाबार्ड ने कोरबा के परसाखोला, सरईपाली, भटगांव और रूगबहरी की 1499 हेक्टेयर भूमि में परियोजना क्रियान्वित की है. इसके अंतर्गत वर्षा जल के संग्रहण और संवर्धन के लिए अनेक आधारभूत संरचनाओं का निर्माण किया गया है.