कवर्धा में चार हज़ार पेड़ काटे जाएंगे

Tuesday, March 4, 2014

A A

वन कटाई

कवर्धा | एजेंसी: छत्तीसगढ़ के कवर्धा वनमंडल के तरेगांव, बोक्करखार में साल बोरर से प्रभावित करीब चार हजार पेड़ काटे जाएंगे. इसके लिए कवर्धा वन मंडल ने अपनी रिपोर्ट वन मुख्यालय को भेज दी है.

कवर्धा डीएफओ विश्वेश कुमार ने बताया कि साल बोरर प्रभावित पेड़ों को चिह्नंकित कर लिया गया है. अनुमति मिलने के बाद कटाई की जाएगी. कवर्धा वनमंडल के डीएफओ विश्वेश कुमार ने बताया कि साल बोरर वाले पेड़ों को चिह्नंकित कर लिया गया है. रिपोर्ट मुख्यालय भेजी गई है. अनुमति मिलने के बाद कटाई की जाएगी. इसके अलावा वाइल्ड लाइफ एरिया के पेड़ों के संबंध में भी फैसला होना है.

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों कवर्धा वनमंडल में करीब 10 किलोमीटर तक साल बोरर कीट का हमला हुआ था. इससे हजारों पेड़ प्रभावित हुए. वन विभाग ने इसका परीक्षण किया और करीब 10 हजार पेड़ प्रभावित पाए गए. इसमें से चार हजार ऐसे पेड़ हैं जिसे बोरर ने पूरी तरह खराब कर दिया है. ऐसे पेड़ों को काटा जाना है. इस संबंध में वन मुख्यालय से अनुमति मांगी गई गई है. अनुमति मिलने के बाद पेड़ों की कटाई की जाएगी.

इसके अलावा वन विभाग के कर्मचारियों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा. उन्हें डिपो में साल के पेड़ों का उपचार, कीड़े लगे पेड़ों की पहचान सहित अन्य जानकारी दी जाएगी, ताकि प्रभावित पेड़ों की कटाई आसानी से की जा सके. वहीं 5 मार्च को वन मुख्यालय में एक बैठक होगी. इसमें पेड़ों की कटाई को लेकर निर्णय लिया जा सकता है. वहीं प्रशिक्षण संबंधी तारीख भी तय की जाएगी.

एसएफआरटीआई के संचालक के.सी. यादव का कहना है कि एसएफआरटीआई ने जांच की है और इसमें दो कैटेगरी के पेड़ों का चयन किया गया है. साल बोरर से प्रभावित पेड़ों की कटाई की जाएगी. प्रशिक्षण के संबंध में भी निर्णय होना है.

Tags: ,