कंगना और शाहरुख साथ-साथ

Thursday, August 25, 2016

A A

कंगना रणौत

मुंबई | संवाददाता: कंगना राणावत की सबसे खास बात है उनके अभिनय की विविधता. शायद यही कारण है कि संजय लीला भंसाली जैसे निर्देशक ने उन्हें शाहरुख खान के साथ एक नई फिल्म के लिये साइन किया है. फिल्म की कहानी हट के होगी, यह दावा तो एकदम सामान्य है लेकिन कहा जा रहा है कि शाहरुख खान भी इस फिल्म को लेकर बेहद उत्साहित हैं.

कंगना इन दिनों केतन मेहता की रानी लक्ष्मीबाई पर बनने वाली फिल्म को लेकर व्यस्त हैं. मंगल पांडे के बाद केतन मेहता की इस बायोपिक के बारे में कंगना का कहना है कि आज मनोरंजन के साथ-साथ कुछ उद्देश्यपरक काम भी करने की जरुरत है और झांसी की रानी पर बनने वाली यह फिल्म उसी सोच का विस्तार है.

कंगना के साथ जो सबसे अच्छी बात है वो है उनका अभिनय, जिसके कायल अमिताभ बच्चन भी हैं और आमिर खान भी. जाहिर है, इस अभिनय प्रतिभा के पीछे उनके रंगमंच का संसार है. यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि हिमाचल में जन्मी कंगना ने लंबे समय तक अरविंद गौड़ के थियेटर में काम किया है.

अरविंद गौड़ के थियेटर ग्रूप के साथ रहते हुये गिरीश कर्नाड के नाटक रक्त कल्याण में उनका अभिनय चर्चा में था और उसी के बाद कंगना को दूसरे नाटकों और फिल्मों का प्रस्ताव मिला.

2006 में वो लम्हे और गैंगस्टर के साथ अपने करियर की शुरुआत करने वाली कंगना को इस फिल्म में ही कई पुरस्कार मिले. 2008 में आई फैशन से उनकी पहचान और गहराई, जो थोड़ी मुकम्मल हुई 2010 में आई अपॉन ए टाईम इन मुम्बई से. इस फिल्म में उन्होंने रेहाना की भूमिका निभाई थी.

2014 में रानी मेहरा की भूमिका के साथ क्वीन फिल्म में उनके अभिनय ने एक बार फिर लोगों को चौंकाया. इस फिल्म के लिये उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार मिला. 2011 में तनु वेड्स मनु और 2016 में तनु वेड्स मनु रिटर्न्स में दोहरी भूमिका ने तो उन्हें फिल्म इतिहास में अमर कर दिया.

लेकिन ऐसी सफलताओं के बाद भी कंगना का दिमाग अभी भी धरातल पर ही है. यही कारण है कि वे थियेटर को अपनी पहली पसंद मानती हैं और उनका कहना है कि अगर किसी को अपनी अभिनय प्रतिभा को मांजना है तो उसे थियेटर जरुर करते रहना चाहिये.

Tags: , , , , , , ,