मरीजों के लिये सस्ती दवाएं

Saturday, December 21, 2013

A A

एंटीबायोटिक से प्रतिरोध क्षमता

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: केन्द्र सरकार आगामी 5 वर्षो में 3000 जनऔषधि भंडार खोलने जा रही है. गौरतलब है कि इस योजना के तहत मरीजों को जेनेरिक दवाए खरीदने के लिये उपलब्ध करायी जाती है. इस योजना की शुरुआत 2008 में केन्द्र सरकार ने की थी.

केन्द्र सरकार के अनुसार वर्ष 2013-14 के दौरान कम से कम 500 नये भंडार खोलने का प्रस्‍ताव है. वर्ष 2014-15, 2015-16, 2016-17 के दौरान क्रमश: कम से कम ऐसे 750, 1000 और 750 भंडार खोलने की योजना है. जनऔषधि भंडारों पर औषधियों की उपलब्‍धता बढ़ाने के लिए औषधियों की सूची बढ़ाकर 361 कर दी गई हैं.

ज्ञात्वय रहे कि पहला जन औषधि‍ भंडार अमृतसर सि‍वि‍ल अस्‍पताल में 25 नवंबर 2008 को खोला गया था. उसके बाद से पंजाब, हरि‍याणा, उड़ीसा, आंध्र प्रदेश, राजस्‍थान, दि‍ल्‍ली, उत्‍तराखंड, पश्‍चि‍म बंगाल, जम्‍मू-कश्‍मीर, हि‍माचल प्रदेश, झारखंड और केन्‍द्र शासि‍त प्रदेश चंडीगढ़ में ऐसे 157 भंडार खोले गए हैं.

Tags: , ,