मोदी ने संबंध मजबूत किया

Saturday, November 28, 2015

A A

ब्रिटेन के उच्चायुक्त

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: मोदी सरकार ने भारत और ब्रिटेन के संबंधों को मजबूत बनाने में मदद की है. दोनों देशों के बीच निवेश के अवसरों का दायरा बढ़ाया है. यह बात भारत में ब्रिटेन के उच्चायुक्त जेम्स डेविड बेवन ने कही है.

बेवन ने एक बातचीत में कहा, “ब्रिटेन और भारत के बीच हमेशा से बहुत अच्छे व्यापारिक संबंध रहे हैं और मौजूदा परिदृश्य में वर्तमान सरकार के प्रयासों ने हमारे रिश्तों और निवेश के अवसरों को और मजबूत किया है. यह चीज दोनों देशों के लिए फायदे का सौदा साबित होने वाली है.”

राजदूत ने कहा कि खर्च और यात्राओं के लिहाज से 2014 एक रिकॉर्ड तोड़ने वाला साल था. इस अवधि के दौरान ब्रिटेन में 3,90,000 भारतीय आगंतुकों ने 44.4 करोड़ पाउंड खर्च किए.

उन्होंने यह भी कहा कि भारत आगंतुकों की संख्या के लिहाज से ब्रिक्स देशों (ब्राजील, रूस, भारत और चीन का एक संगठन) में ब्रिटेन का शीर्ष साझेदार है.

बेवन ने कहा कि भारत में ब्रिटेन की एक महत्वाकांक्षी एवं अनुकूल छवि है, जिसका वह आनंद उठाता है. उन्होंने कहा, “युनाइटेड नेशन्स वर्ल्ड टूरिज्म ऑर्गेनाइजेशन ने अनुमान जताया है कि वर्ष 2020 तक भारत पांच करोड़ पर्यटक पहुंचेंगे, जो मजबूत विकास का संकेत दे रहा है.”

दोनों देशों के बीच के संबंधों को मजबूत बनाने में सिर्फ पर्यटन ने ही मदद नहीं की है. इसमें फिल्मों और टेलीविजन विषय सामग्री के आदान-प्रदान ने भी एक अहम भूमिका निभाई है. भारत में 20 नवंबर को रिलीज हुई जेम्स बान्ड की ‘स्पेक्टर’ फिल्म इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है.

ब्रिटेन के उच्चायुक्त ने ‘स्पेक्टर’ की रिलीज से पूर्व भारत में यूके ट्रेड एंड इंवेस्टमेंट, ब्रिटिश काउंसिल और सोनी पिक्चर्स इंटरटेनमेंट के साथ मिलकर ‘बान्ड इज ग्रेट’ अभियान भी शुरू किया.

बेवन का मानना है कि बान्ड फ्रेंचाइजी की अगली फिल्में भारत में भी फिल्माई जा सकती हैं.

उन्होंने कहा, “हमने बीते समय में भारत में ‘स्लमडॉग मिलिनेयर’ और ‘द एग्जोटिक मैरीगोल्ड होटल’ जैसी कुछ अच्छी फिल्मों की शूटिंग होती देखी है और हमें यकीन है कि यह चीज अन्य प्रोडक्शन हाउस को यहां आने के लिए प्रेरित करेगी.”

Tags: , , , ,