is सभी मुसलिमों का नेता नहीं: अल कायदा

Saturday, September 12, 2015

A A

अल-जावाहिरी

लंदन | समाचार डेस्क: आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ अल कायदा के प्रमुख अल जवाहिरी ने बयान जारी किया है. अपने ऑडियो बयान में अल जवाहिरी ने इस्लामिक स्टेट के मुसलमानों का स्वघोषित नेता घोषित करने का विरोध किया है. कभी इस्लामिक स्टेट, अल कायदा का ही हिस्सा हुआ करता था परन्तु ओसामा बिन लादेन के मौत के बाद दो वर्ष पहले उसने खुद को अलग संगठन के रूप में स्थापित कर लिया है. जाहिर है कि इससे अल जवाहिरी के नेतृत्व को चुनौती मिली है. इसके अलावा इस्लामिक स्टेट ने जिस तरह से आतंक फैलाया, हत्यायें की तथा तेल के कुओं पर अपना कब्जा जमाया उससे लोग अल कायदा को भूलने लगे हैं. इसी कारण इस्लामिक आतंकवादी संगठन, अल कायदा ने अपने साथी जिहादी संगठन, इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों की निंदा की है. अलकायदा ने यह निंदा आईएस के नेता द्वारा दिए गए आक्रोशपूर्ण भाषण के लिए की है. मिरर ऑनलाइन की रपट के अनुसार, अलकायदा प्रमुख, अयमान अल जवाहिरी ने अपने एक ऑडियो संदेश में आईएस पर निशाना साधा है. अल जवाहिरी को चार साल पहले ओसामा बिन लादेन के बाद अलकायदा का प्रमुख बनाया गया था.

अल जवाहिरी ने आईएस प्रमुख अबु बक्र अल बगदादी पर आरोप लगाया है कि उसने खुद को सभी मुसलमानों का नेता यानी चौथा खलीफा घोषित कर विद्रोह भड़काने का काम किया है.

अल जवाहिरी ने ऑडियो संदेश में कहा है, “हमें अबु बक्र अल बगदादी और उनके साथियों से काफी नुकसान हुआ है, फिर भी हम बगावत की इस आग को बुझाने को लेकर चिंतित है, लिहाजा हमने यथा संभव संयमित प्रतिक्रिया करना मुनासिब समझा है. लेकिन अबु बक्र और उनके भाइयों ने हमारे सामने कोई विकल्प नहीं छोड़ा है.”

अल बगदादी ने पिछले साल इराक के मोसुल में एक भाषण के दौरान विश्व के सभी मुसलमानों से आह्वान किया था कि वे उसके खिलाफत के झंडे के नीचे आएं.

जवाहिरी ने कहा, “हर कोई अल बगदादी की इस घोषणा से हैरान है और उन्होंने मुसलमानों से बिना विचार-विमर्श किए यह घोषणा कर दी.”

आईएस पूर्व में इराक में अलकायदा का ही हिस्सा था, लेकिन दो साल पहले यह बड़े समूह से अलग हो गया था.

Tags: , , , , , ,