पेरिस पर ISIS का कहर, देखें वीडियों

Sunday, November 15, 2015

A A

फ्रांसिस ओलांद-राष्ट्रपति

पेरिस | शमाचार डेस्क: पेरिस पर इस्लामिक स्टेट के बर्बर हमले से दुनिया शिहर उठी. वहीं फ्रांस के राष्ट्रपति ओलांद ने देशवासियों को संबोधित करते हुये कहा आतंकवादियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जायेगी. पेरिस में मुंबई की तर्ज पर शुक्रवार रात छह भीड़ृ-भाड़ वाले इलाकों में इस्लामिक स्टेट के आठ आतंकवादियों के भीषण हमलों में कम से कम 127 लोगों की मौत हो गई, जबकि 200 से अधिक लोग घायल हो गए. इस घटना से पूरी दुनिया सदमे में है, हालांकि घटना में किसी भारतीय के हताहत होने की खबर नहीं है. द्वितीय विश्व युद्ध के बाद पहली बार पेरिस में कर्फ्यू लगाया गया. फ्रांस के राष्ट्रपति ने देश में आपातकाल की घोषणा की और इसका करारा जवाब देने का संकल्प लिया.

आतंकवादियों ने शुक्रवार रात थियेटर, कैफे व पर्यटन स्थलों को निशाना बनाया. फ्रांस आने-जाने के रास्ते आमतौर पर खुले रहते हैं, लेकिन अब निगरानी में हैं.

फ्रांस के राष्ट्रपति ओलांद ने कहा कि खतरों से लड़कर फ्रांस को और मजबूत होना चाहिए. अपनी रक्षा करना और अपने सुरक्षाबलों को लामबंद करना हम जानते हैं और एक बार फिर आतंकवाद को हराएंगे.

आतंकवादी हमलों को युद्ध की कार्रवाई करार देते हुए ओलांद ने मृतकों की संख्या 127 बताई, हालांकि प्रारंभिक रिपोर्टों के मुताबिक 150 से अधिक लोग मारे गए हैं.

फ्रेंच टीवी चैनल बीएफएमटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, गोलियां बरसाते हुए एक हमलावर चिल्ला रहा था, “यह सीरिया का बदला है. एक आत्मघाती हमलावर के पास से सीरिया का पासपोर्ट बरामद हुआ है.”

द इंडिपेंडेंट ऑनलाइन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार को जारी एक बयान में आईएस ने हमलों की जिम्मेदारी लेने का दावा किया.

आतंकवादी समूह ने अरबी व फ्रेंच भाषा में जारी एक बयान में पेरिस को घृणित कार्यो व विकृति की राजधानी करार देते हुए कहा है कि हमलों को बंदूक व आत्माघाती जैकेट से लैस आठ ‘बंधुओं’ द्वारा अंजाम दिया गया.

आतंकवादियों ने फ्रांस के नेशनल स्टेडियम को निशाना बनाया, जहां फ्रांस-जर्मनी के बीच फुटबॉल मैच देखने के लिए हजारों दर्शकों में ओलांद भी मौजूद थे.

स्टेडियम में लोगों ने बाहर की तरफ दो विस्फोटों की आवाजें सुनीं.

एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि हत्यारों ने नकाब नहीं पहन रखा था और दिखने में बिल्कुल युवा तथा मरने-मारने पर उतारू थे.

सबसे भीषण हमला बाताक्लां थियेटर में हुआ, जब रॉक बैंड इगल्स ऑफ द डेथ मेटल प्रदर्शन कर रहा था, उसी दौरान आतंकवादी वहां घुस आए और लोगों से नीचे झुकने को कहा, फिर उनपर अंधाधुंध गोलिया बरसाईं. बैंड के सदस्य सुरक्षित निकलने में कामयाब रहे.

घटनास्थल पर मौजूद एक पत्रकार ने कहा कि बंदूकधारियों ने अपने स्वचालित हथियारों को कम से कम तीन बार रिलोड किया, लोगों को बंधक बनाया और जब हॉल में सुरक्षाबल घुसे, तो उन्होंने खुद को उड़ा लिया, जिसमें 100 से अधिक नागरिक मारे गए.

आईएस द्वारा जारी बयान के अनुसार, लक्ष्य का चयन जानबूझकर किया गया, क्योंकि उन्होंने फुटबॉल मैच व रॉक कंसर्ट को विकृति का प्रतीक बताया.

बयान में फ्रांस पर सीरिया व इराक में आईएस के खिलाफ सैन्य अभियान व देश में कानून के रूप में मुसलमानों के खिलाफ धर्मयुद्ध चलाने का आरोप लगाया गया है और भविष्य में और हमलों की चेतावनी दी गई है.

बीबीसी के अनुसार, पत्रकार जुलियन पियर्स ने कहा, “कई सशस्त्र लोग अंदर घुसे. दो या तीन लोग होंगे, जिन्होंने नकाब नहीं पहन रखा था, जिनके पास कलाशनिकोव जैसा दिखने वाला हथियार था, जिससे उन्होंने अंधाधुंध गोलियां बरसाईं. यह बेहद हिंसक व आतंकित करनेवाला था. यह खूनी खेल 10-15 मिनट तक चला. हमलावरों के पास अपने हथियार को तीन बार रिलोड करने का पर्याप्त वक्त था. वे युवा थे और इधर-उधर लाशें बिखरी थीं.”

ओलांद ने खून से लथपथ कांसर्ट हॉल का दौरा किया और बदला लेने का संकल्प लिया. उन्होंने कहा, “वह आतंकवादियों के खिलाफ बिना किसी दया के कार्रवाई करेंगे.”

उन्होंने तुर्की के अंताल्या में शनिवार से शुरू हो रहे जी20 सम्मेलन के दौरे को भी रद्द कर दिया.

इसके अलावा, एक पिजा रेस्तरां, एक कंबोडियाई रेस्तरां, एक बार तथा मैक डॉनल्ड के एक रेस्तरां को भी निशाना बनाया गया.

फ्रांस से सुरक्षाकर्मियों ने शनिवार को घोषणा की कि सभी हमलावर मारे गए हैं, एक को मुठभेड़ के दौरान मार गिराया गया, जबकि सात ने खुद को उड़ा लिया. संभावित हमलावर के लिए तलाशी अभियान जारी है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शनिवार को कहा कि हमलों में किसी भारतीय के हताहत होने की खबर नहीं है.

Terror In Paris

François Hollande Addresses The Nation

Tags: , , , , , , ,