कारोबारियों ने श्रम सुधार कदमों को सराहा

Thursday, October 16, 2014

A A

एसोचैम

नई दिल्ली | एजेंसी: देश के कारोबार जगत ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के श्रम सुधार के लिए उठाए गए ‘श्रममेव जयते’ पहल की सराहना की है. इससे जुड़े लोगों ने कहा कि इससे कारोबार का एक बेहतर माहौल बनेगा और श्रमिकों को बेहतर सामाजिक सुरक्षा मिलेगी. प्रधानमंत्री ने दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में एक कार्यक्रम के दौरान श्रम सुविधा पोर्टल, श्रम जांच योजना और कर्मचारी भविष्य निधि की सार्वभौमिक खाता संख्या के जरिए सामाजिक सुरक्षा की पोर्टेबिलिटी की शुरुआत की.

भारतीय उद्योग परिसंघ के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने एक बयान में कहा, “पोर्टल का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इससे इकाइयों का ऑनलाइन पंजीकरण किया जा सकेगा और स्वयं प्रमाणित एकल ऑनलाइन रिटर्न भरा जा सकेगा. इससे उद्योग को कफी राहत मिलेगी और अनुपालन का बोझ घटेगा.”

‘श्रम निरीक्षण योजना’ की सराहना करते हुए बनर्जी ने कहा, “निरीक्षण को तर्कसंगत बनाना पुरानी मांग थी. परिसंघ को खुशी है कि इससे अनुपालन व्यवस्था की स्वेच्छाचारिता पर अंकुश लगेगा.”

एसोचैम के महासचिव डी.एस. रावत ने कहा, “निरीक्षण तर्कसंगत बनाने और श्रम कानूनों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए एकीकृत वेब पार्टल शुरू करने से निरीक्षकों द्वारा की जाने वाली प्रताड़ना रुकेगी.”

रावत ने कहा, “सार्वभौमिक पीएफ खाता संख्या से कर्मचारियों की पुरानी मांग पूरी हो गई है. इससे वे कहीं भी, कभी भी अपने खाते की ताजा स्थिति देख सकते हैं.”

श्रम योजनाओं को लांच करते हुए मोदी ने कहा कि सरकार को अपने नागरिकों पर भरोसा करना चाहिए. उन्होंने कहा दस्तावेजों के स्व-प्रमाणन की अनुमति देकर इस दिशा में एक बड़ा कदम उठाया गया है.

पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष शरद जयपुरिया ने कहा कि ‘श्रमेव जयते’ सफलता का एक मंत्री है. इससे लाखों रोजगार का सृजन होगा. इससे रोजगार करना आसान होगा. इससे वैश्विक आर्थिक व्यवस्था में भारत पहले से बेहतर स्थान पर काबिज होगा.

Tags: , , , , , , ,