नेपाल में भारतीय कूटनीति फेल

Thursday, October 1, 2015

A A

अभिषेक मनु सिंघवी

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: कांग्रेस ने नेपाल के साथ भारत के ताजा गतिरोध को उसकी ‘आंशिक असफलता’ करार दिया है. इसी के साथ कांग्रेस ने मांग की है कि सरकार नेपाल के साथ विस्वास में आई कमी को दूर करें. कांग्रेस ने कहा है कि नेपाल में भारतीय कूटनीति असफल रही है. कांग्रेस ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नेपाल के साथ विश्वास में आई कमी की भरपाई के लिए त्वरित कदम उठाने की मांग की. कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यहां पत्रकारों से कहा कि भारत और नेपाल के बीच संबंध हमेशा से घनिष्ठ और मैत्रिपूर्ण रहे हैं.

अभिषेक ने कहा, “इस संदर्भ में कांग्रेस का विचार है कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद है तथा नेपाल में जो कुछ घट रहा है उस संदर्भ में दोनों देशों के राष्ट्रीय हितों के लिए गंभीर परिणाम वाला है. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमें कहना पड़ रहा है कि भारतीय कूटनीति यहां पर असफल साबित हुई है.”

नेपाल में चल रहे विरोध प्रदर्शनों और सीमा पर आपूर्ति बाधित होने की हवाला देते हुए उन्होंने कहा, “इस गुस्से का बाहर आना और असंतुष्टि की भावना किसी भी देश के लिए ठीक नहीं है. हम सरकार से आवश्यक कूटनीतिक कौशल दिखाने और इन गंभीर मुद्दों के समाधान के प्रति सुनिश्चतता व्यक्त करने की मांग करते हैं.”

उल्लेखनीय है कि नेपाल के तराई इलाके में रहने वाले मधेशी लोग नेपाल के नए सविंधान में संशोधन की अपनी मांग को लेकर नेपाली सरकार पर दबाव बनाने के लिए भारत से लगी सीमा के पास विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

उनका कहना है कि 20 सितंबर को लागू किए गए नेपाल के नए संविधान में तराई के लोगों को उचित प्रतिनिधित्व नहीं मिला है.

Tags: , , , ,