भारत में सबसे अधिक गुलाम: सर्वे

Tuesday, November 18, 2014

A A

छत्तीसगढ़ रोजगार गारंटी

नई दिल्ली | विशेष संवाददाता: दुनिया में सबसे ज्यादा ‘आधुनिक गुलाम’ भारत में हैं. ग्लोबल स्लेवरी इंडेक्स के अनुसार भारत में 1 करोड़ 40 लाख ‘आधुनिक गुलाम’ हैं. इसके बाद चीन 32 लाख ‘आधुनिक गुलामों’ के साथ दुनिया में दूसरे नंबर पर है तथा पाकिस्तान 21 लाख ‘आधुनिक गुलामों’ के साथ दुनिया में तीसरे स्थान पर है. सर्वे का नतीजा कुल जमा यह कि एशिया में ‘आधुनिक गुलामों’ की संख्या सबसे ज्यादा है.

फ्री वॉक फाउंडेशन के द्वारा कराये गये इस ग्लोबल स्लेवरी इंडेक्स में ‘आधुनिक गुलाम’ से तात्पर्य वेश्यावृति में ढकेलने, जबरन मजदूरी करवाने, जोर-जबरदस्ती से शादी करवाने तथा मानव तस्करी से है. ‘आधुनिक गुलामों’ को हजारों साल पहले के गुलाम से पृथक माना गया है परन्तु अपने अधिकारों के मामलों में वे गुलाम ही हैं ऐसा माना गया है.

फ्री वॉक फाउंडेशन के द्वारा कराये गये इस ग्लोबल स्लेवरी इंडेक्स सर्वे 2014 में 167 देशों का नाम है जिसमें शिखर पर भारत है. इस सर्वे के आकड़ों को लेकर बहस किया जा सकता है परन्तु भारत के कई राज्यों में चल रही कुरीतियों, बाल मजदूरी, सेक्स रैकेट में जबरन ढकेले जाने तथा दूसरे राज्यों में बंधुआ मजदूर बनाये जाने के लगातार खबरों से यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि भारत आज भी आधुनिक गुलामों को अपने समाज में समाये हुए है.

फ्री वॉक फाउंडेशन के द्वारा कराये गये इस ग्लोबल स्लेवरी इंडेक्स सर्वे 2014 के आकड़ों के अनुसार दुनिया भर में करीब 3 करोड़ 58 लाख ‘आधुनिक गुलाम’ हैं. इस लिहाज से भारत में ही 1 करोड़ 40 लाख ‘आधुनिक गुलाम’ कहे जाने वालों की संख्या विद्यमान होना काफी हैरत की बात है. जाहिर है कि भारत में कानूनों को तोड़कर ऐसे गुलाम बनाये जाते हैं.

फ्री वॉक फाउंडेशन के द्वारा कराये गये इस ग्लोबल स्लेवरी इंडेक्स सर्वे 2014 के मुताबिक भारत में शासन तथा प्रशासन का रुख इसके लिये जिम्मेदार है.

Tags: , , , , ,