ऑस्कर का मौका गंवा दिया

Sunday, October 27, 2013

A A

द लंच बॉक्स

अबू धाबी | एजेंसी:बोस्नियाई फिल्मकार डेनिस टेवोनिक ऑस्कर में भारत द्वारा ‘द लंचबॉक्स’ की जगह ‘द गुड रोड’ का चुनाव किए जाने से चिंतित हैं.

वह ऐसा इसलिए नहीं कह रहें कि वह इरफान खान अभिनीत ‘द लंचबॉक्स’ के 20 सह निर्माताओं में से एक हैं.

गौरतलब है कि फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया ने गुजराती यात्रा नाटक ‘द गुड रोड’ को ऑस्कर के लिए चुना है. डेनिस ने कहा, “आपके पास एक ही मौका होता है, दूसरा मौका नहीं. अगर मैं ‘द लंचबॉक्स’ को अपनी जगह दे पाता, तो जरूर दे देता.”

अपनी 2001 की फिल्म ‘नो मैन्स लैंड’ के लिए डेनिस ने सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्म श्रेणी का पुरस्कार जीता था और इस साल उनकी फिल्म ‘एन एपिसोड इन द लाइफ ऑफ एन आयरन पिकर’ उनके देश की ओर से ऑस्कर में जाएगी.

लेकिन आईएएनएस से बातचीत के दौरान उन्होंने इसका जिक्र भी नहीं किया, बल्कि भारत की ओर से ‘द लंचबॉक्स’ को ऑस्कर के लिए भेजे जाने पर अफसोस जताया.

अबू धाबी फिल्मोत्सव, एडीएफएफ के दौरान डेनिस ने बताया, “यह फैसला अभी भी मेरे गले नहीं उतर रहा है. अगर आप ऑस्कर जीतना चाहते हैं तो आपको दौड़ में अच्छा घोड़ा दौड़ाना चाहिए. सबसे बेहतर घोड़ा ‘द लंचबॉक्स’ थी.”

‘द लंचबॉक्स’ एक लंच बॉक्स के जरिए दो अकेले व्यक्तियों के बीच बने अनोखे प्रेमसंबध की कहानी है. जिसमें से एक औरत, निमरत कौर है जिसके वैवाहिक जीवन में प्रेम नहीं है. दूसरा एक विधुर पुरुष, इरफान खान है जो अपनी मृत पत्नी की यादों के साथ जी रहा है.

फिल्म के नवागत निर्देशक रितेश बत्रा को न सिर्फ अंतर्राष्ट्रीय फिल्मोत्सवों में सराहा गया है, बल्कि बॉक्स ऑफिस पर भी उन्हें प्रशंसा मिली है. डेनिस को लगाता है कि जिस फिल्म ने अमेरिका, टोरंटो और टेल्यूराइड के फिल्मोत्सवों में धूम मचा दी, उसे बेहतर मौका मिलना चाहिए.

उन्होंने कहा, “उन्हें ‘लगान’ से यह सीख जाना चाहिए. ‘लगान’ ऑस्कर के लिए चुनी गई आखिरी फिल्म थी. मैंने भारत के एक व्यक्ति से पूछा कि आप ‘द गुड रोड’ ऑस्कर में क्यों भेज रहे हैं, तो उसने उत्तर दिया कि यह अच्छी फिल्म है.”

डेनिस ने कहा, “सवाल सिर्फ अच्छी फिल्म का नहीं है. अगर आप सच में ऑस्कर जीतना चाहते हैं तो आपको वह फिल्म भेजनी चाहिए जो आपको बेहतर लगे.”

डेनिस का कहना है, “उन्होंने गलत फैसला किया है. उन्हें वास्तव में इसके बारे में फिर से सोचना चाहिए. भविष्य में अगर आप सच में ऑस्कर जीतना चाहते हैं तो ऐसी फिल्म भेजिए जो सच में इसके लायक हो.”

उन्होंने ऑस्कर में भारत संभावानाओं के बारे में कहा, “आपने मौका खो दिया.”

Tags: ,