निवेश पर टिका विकास की सोच

Monday, September 8, 2014

A A

एसोचैम

नई दिल्ली | एजेंसी: देश की सालाना आर्थिक विकास दर सात फीसदी तक पहुंचाने के लिए अगले पांच साल में देश में 4,700 अरब डॉलर निवेश की जरूरत है. यह बात रविवार को भारतीय उद्योग परिसंघ ने कही. परिसंघ ने यहां जारी अपने एक बयान में कहा कि अगले पांच साल में देश में निवेश की जरूरत का अनुमान देते हुए परिसंघ ने अनुमानित आंकड़ा 4,700 अरब डॉलर रखा है, जो गत पांच वर्षो में हुए 2,900 अरब डॉलर निवेश का लगभग दो गुणा है.

इस विषय पर किए गए अध्ययन के बारे में परिसंघ के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा, “अध्ययन का मकसद अर्थव्यवस्था में भविष्य में होने वाले निवेश का आंकलन करना, विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की योजना तैयार करना और निवेश स्रोत की पहचान करना था, ताकि समयबद्ध तरीके से लक्ष्यों को हासिल करने के लिए नीतियों में जरूरी फेर-बदल किए जाएं.”

परिसंघ के बयान के मुताबिक विनिर्माण क्षेत्र में 98,00,000 करोड़ रुपये निवेश की जरूरत है. सेवा क्षेत्र में भी आठ फीसदी विकास दर बनाए रखने के लिए 98,00,000 करोड़ रुपये निवेश की जरूरत है.

परिसंघ के मुताबिक कृषि क्षेत्र में चार फीसदी विकास दर हासिल करने के लिए 36,00,000 करोड़ रुपये निवेश चाहिए.

परिसंघ ने यह भी उम्मीद जताई कि अधोसंरचना क्षेत्र में निवेश जहां 11वीं पंच वर्षीय येाजना के 500 अरब डॉलर से बढ़कर 2014-15 और 2018-19 के बीच 1,071 अरब डॉलर होना चाहिए.

Tags: , , ,