IMM के लिए 13 सूत्री एजेंडा

Monday, September 1, 2014

A A

स्मृति ईरानी

नई दिल्ली | एजेंसी: स्मृति जुबिन ईरानी ने बेंगलुरू में 13 भारतीय प्रबंधन संस्थानों के अध्यक्षों और निदेशकों के साथ आईआईएम के सम्मेलन को सोमवार को संबोधित किया. ईरानी ने राष्ट्रीय विकास लक्ष्यों सहित विभिन्न क्षेत्रों में प्रबंधन विशेषज्ञता को लाने के लिए आईआईएम के लिए 13 सूत्रीय एजेंडा निर्धारित किया.

बातचीत के क्रम में राष्ट्रीय विकास लक्ष्यों, आईआईएम में प्रवेश प्रक्रिया, संस्थानों की समीक्षा, प्रबंधन संस्थानों के लिए राष्ट्रीय रैंकिंग ढांचा, आईसीटी से संबंधित मुद्दों पर ध्यान केन्द्रित करने के अलावा आईआईएम में अनुसंधान के विकास, विशेष रूप से समाज से संबंधित अनुसंधानों के बारे में ध्यान देने के लिए कहा गया.

ईरानी ने राष्ट्रीय विकास लक्ष्यों सहित विभिन्न क्षेत्रों में प्रबंधन विशेषज्ञता को लाने के लिए आईआईएम के लिए 13 सूत्रीय एजेंडा निर्धारित किया. उन्होंने आईआईएम के अध्यक्षों और निदेशकों से देश के लिए जनशक्ति और शिक्षक शक्ति दोनों के लिए रणनीति तैयार करने के लिए कहा.

उन्होंने कहा कि आईआईटी और केन्द्रीय विश्वविद्यालयों के साथ आईआईएम को प्रख्यात व्यक्तियों का वैश्विक प्रतिभा पूल बनाने की प्रणाली का सृजन करना चाहिए, जो अपनी विशेषज्ञता का न केवल आईआईएम में बल्कि देश के अन्य संस्थानों में भी योगदान कर सकेंगे.

उन्होंने आईआईएम से आईआईटी द्वारा विकसित इशान विकास जैसे कार्यक्रमों की तरह पूर्वोत्तर राज्यों के छात्रों के लिए विशेष कार्यक्रम विकसित करने के लिए कहा. आईआईएम को अपनी प्रबंधकीय क्षमता बढ़ाने के दृष्टिकोण से स्थानीय उद्योगों और स्थानीय समुदायों के साथ काम करने की जरूरत है.

उन्होंने स्मार्ट शहरों और ग्रीन शहरों के विकास जैसी राष्ट्रीय परियोजनाओं के लिए अपनी प्रबंधकीय विशेषज्ञता का योगदान करने के लिए कहा.

मानव संसाधन विकास मंत्री ने विकासशील देशों की प्राथमिकताओं के अनुसार विश्व में संस्थानों की रैंकिंग करने के दृष्टिकोण से प्रबंधन संस्थानों की रैंकिंग के लिए ढांचा विकसित करने के लिए कहा, जिससे राष्ट्रीय रैंकिंग ढांचे के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए देश के संस्थानों को शैक्षिक उत्कृष्टता शुरू करने में मदद मिल सके.

Tags: , , , , , , ,