दुर्गा को निलंबित करवाया 41 मिनट में: सपा नेता

Friday, August 2, 2013

A A

दुर्गा शक्ति नागपाल

नोएडा: उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के एक नेता ने दावा किया है कि उन्होंने नोएडा की एसडीएम (सदर) दुर्गा शक्ति नागपाल का निलंबन 41 मिनट के अंदर करवा दिया. एक जनसभा को संबोधित करते हुए राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त यूपी एग्रो कॉर्पोरेशन के चेयरमैन नरेंद्र भाटी ने नागपाल के निलंबन को सही ठहराते हुए यह दावा किया.

उन्होंने कहा, “मैंने सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से रात 10.30 बजे बात की और रात 11.11 बजे उप जिलाधिकारी नागपाल के निलंबन का आदेश नोएडा के कलेक्टर के दफ्तर में आ गया यह है लोकतंत्र की ताकत.”

भाटी ने आगे कहा, “मैं यही आप लोगों को बताने आया हूं कि जिस औरत ने इतनी बेहूदगी यहां की वह उस डंडे को 40 मिनट नहीं झेल पाई. सिर्फ 41 मिनट में सस्पेंशन का ऑर्डर लखनऊ से पास होकर यहां तामील हो गया.”

उल्लेखनीय है कि भाटी नोएडा से सपा के लोकसभा उम्मीदवार हैं और उन्होंने ही कादलपुर गांव की इस विवादित मस्जिद का शिलान्यास किया था. हालांकि भाटी ने इससे इनकार किया और कहा कि उन्होंने सिर्फ लोगों को सहयोग के लिए 51 हजार रुपए दिए थे.

वैसे इससे पहले आई नोएडा के डीएम की रिपोर्ट ने अखिलेश सरकार के उस दावे की पोल खोल दी थी कि दुर्गा शक्ति नागपाल को एक निर्माणाधीन मस्जिद की दीवार गिराने के चलते निलंबित किया गया था. रिपोर्ट में यह स्पष्ट कहा गया था कि दीवार गांव वालों ने खुद गिराई थी क्योंकि ये ग्राम समाज की जमीन पर लोक प्रशासन की अनुमति के बगैर बन रही थी.

पहले आई डीएम रिपोर्ट और फिर अब आए नरेंद्र भाटी के इस बयान को लेकर विपक्षी दल सरकार पर जबरदस्त हमला कर रहे हैं और इससे सरकार पर एक बार फिर खनन माफिया के दबाव में आकर निलंबन का फैसला लेने के आरोपों में दम दिखाई देने लगा है.

Tags: , , ,