विलियम्स ने आंसुओं को सम्मान दिलाया

Tuesday, August 12, 2014

A A

रॉबिन विलियम्स की मौत.

चेन्नई | समाचार डेस्क: हालीवुड के हास्य अभिनेता रॉबिन विलियम्स की मौत से दक्षिण तथा हिन्दी फिल्मों के अभिनेता कमल हासन दुखी हैं. कमल हासन ने हॉलीवुड अभिनेता रॉबिन विलियम्स के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि बड़े पर्दे पर पुरुष अभिनेताओं के चरित्र-चित्रण में क्रांतिकारी बदलाव लाने और पुरुषों के रुदन दृश्य को गरिमा दिलाने का श्रेय रॉबिन विलियम्स को जाता है. हासन की फिल्म ‘चाची 420′ रॉबिन विलियम्स अभिनीत ‘मिसेज डाउटफायर’ पर आधारित थी.

विलियम्स सोमवार को कैलिफोर्निया स्थित अपने घर में मृत पाए गए थे. वह 63 साल के थे. ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि विलियम्स ने आत्महत्या की है.

हासन ने एक बयान में कहा, “यदि उनके खुदकुशी करने की बात सच है, तो मुझे इस तरह अपनी जिंदगी खत्म करने के लिए उनसे शिकायत है. यह कायरता भरा कदम है और मुझे उनके जैसी क्षमता वाले कलाकार से ऐसा करने की उम्मीद नहीं थी. मेरे भारतीय आदर्श कलाकार गुरुदत्त पर भी यही बात लागू होती है.”

हासन, हास्य कलाकारों को समाज का आलोचक मानते हैं.

उन्होंने कहा, “वे हंसी के पीछे अपना गुस्सा छिपा लेते हैं. खुद को लगातार हंसमुख और खुशमिजाज दिखाते रहने से भी वे अवसाद में चले जाते हैं. रॉबिन स्वाभाविक रूप से बेहद भावुक इंसान थे. आप उनकी फिल्मों में यह देख सकते हैं.”

विलियम्स को ‘गुड मॉर्निग वियतनाम’, ‘पीटर पैन’ और ‘जुमांजी’ जैसी फिल्मों के लिए याद किया जाता है.

Tags: , , , , ,