पटना भगदड़ की उच्च स्तरीय जांच

Saturday, October 4, 2014

A A

पटना भगदड़ में घायल

पटना | समाचार डेस्क: बिहार सरकार ने शुक्रवार को हुए पटना भगदड़ की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिये हैं. इस मामले की जांच अपर पुलिस महानिदेशक और गृह सचिव करेंगे. वहीं, बिहार के मुख्यमंत्री जतीन दास मांझी ने मृतकों के परिजनों को 3-3 लाख तथा प्रधानमंत्री मोदी ने 2-2 लाख रुपये देने की घोषणा की है. पटना के जिलाधिकारी मनीष वर्मा ने बताया कि मृतकों में महिलाओं और बच्चों की संख्या अधिक है. शुक्रवार को हादसे के बाद नाराज लोगों ने घटना स्थल तथा अस्पताल के सामने हंगामा किया. उधर भाजपा नेता तथा केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मारे गये लोगों के प्रति अपने शोक का इजहार किया तथा कहा कि पांच लाख लोगों के लिये प्रशासन को इंतजाम करना था.

उधर रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने इसके लिये प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया. चिराग पासवान ने सवाल उठाया कि यदि इससे पहले कभी दशहरा के दिन भगदड़ नहीं मची थी तो क्या प्रशासन इंतजाम नहीं करेगा कि पांच लाख लोगों को कैसे सुरक्षी दी जाये. राजद के लालू प्रसाद यादव ने भी प्रशासन को जिम्मेदार माना. शुक्रवार को घटना के बाद प्रत्यक्षदर्शी आरोप लगा रहे थे कि घटना के तीन घंटे बाद भी मुख्यमंत्री वहां पर नहीं पहुंचे हैं.

गौरतलब है कि बिहार की राजधानी पटना में शुक्रवार को दशहरा के मौके पर गांधी मैदान में रावण दहन के बाद एक्जीबिशन रोड में मची भगदड़ में कम से कम 32 लोगों की मौत हो गई, जबकि 100 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना में मारे गए लोगों के प्रति शोक जताया है. अपर पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने बताया कि प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी गांधी मैदान में रावण वध कार्यक्रम के बाद बड़ी संख्या में लोग रामगुलाम चौक की ओर से एक्जीबिशन रोड की ओर निकले थे, इसी दौरान भगदड़ मच गई. भगदड़ में लोग एक-दूसरे पर गिरते रहे. इस घटना में अब तक 32 लोगों की मौत हो गई है तथा 100 से ज्यादा लोग घायल हैं.

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री रामधनी सिंह ने बताया कि सरकार ने मृतक के परिजनों को मुआवजा के तौर पर तीन-तीन लाख रुपये देने की घोषणा की है तथा पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल को घायलों को उचित तरीके से इलाज करने का निर्देश दिया गया है. उन्होंने बताया कि सभी घायलों को पीएमसीएच में भर्ती करा दिया गया है.

उन्होंने बातचीत के दौरान मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई.

उल्लेखनीय है कि 19 नवंबर 2012 को भी पटना के छठ घाट पर मचे भगदड़ में 18 लोगों की मौत हो गई थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पटना में दशहरा के दौरान भगदड़ में मारे गए लोगों के लिए शोक व्यक्त किया.

मोदी ने ट्वीट में कहा है, “पटना में भगदड़ मचना अत्यंत दुखद है. मैंने बिहार के मुख्यमंत्री से स्थिति की जानकारी ली है.”

उन्होंने कहा है, “इस घटना में जिनकी जान गई है उनके परिवार के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं.”

Tags: , , , , , , , ,