नेपाल: भूकंप से 1100 की मौत

Saturday, April 25, 2015

A A

भूकंप-नेपाल

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: नेपाल में शनिवार को आए भूकंप में कम से कम 1100 लोगों की मौत हो गई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. समाचार चैनल बीबीसी से राष्ट्रीय पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि भूकंप के कारण 1100 लोगों की मौत हुई है. कई लोग अभी भी मलबे के अंदर दबे हैं. नेपाल में भारतीय समयानुसार पूर्वाह्न् 11.41 बजे भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए. भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.5 दर्ज की गई. भूकंप के ये झटके दिल्ली से गुवाहाटी और श्रीनगर से जयपुर तक महसूस किए गए. मध्य प्रदेश तथा छत्तीसगढ़ में भी भूपंक के झटके महसूस किये गये. यहां तक कि भूकंप के आधे घंटे बाद तक भी आफ्टशॉक जारी रहे. भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, भारत में रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 6 और गहराई 10 किलोमीटर दर्ज की गई. अमरीकी भौगोलिक सर्वेक्षण के अनुसार भूकंप का केंद्र नेपाल का लामजुंग रहा. लामजुंग जिला काठमांडू से लगभग 75 किलोमीटर की दूरी पर है. चीन ने तो कहा है कि भूकंप की तीव्रता 8.1 थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, “नेपाल में भूकंप की खबर आई है. भारत के कुछ हिस्सों में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं.”

उन्होने कहा कि वे इस संबंध में अधिक जानकारी इकट्ठा करने की प्रक्रिया में हैं और भारत और नेपाल दोनों जगह भूकंप से प्रभावित लोगों तक पहुंच बनाने की दिशा में प्रयासरत हैं.

उत्तर भारत से आई खबरों के मुताबिक, भूकंप और तेज आफ्टरशॉक के बाद लोग अपने घरों और कार्यालयों से निकलकर बाहर भागे.

भूकंप के ये झटके इतने तेज थे कि लोग अपनी जान बचाने के लिए बाहर भाग रहे थे. कुछ लोगों ने भगवान से प्रार्थना करनी शुरू कर दी और इमारतों से जितनी दूर हो सके उतनी दूर जाने की कोशिश की. ज्यादातर लोग खुले मैदान की ओर भागे.

जयपुर के सिरसी रोड पर रहने वाले रविंद्र कुमार ने कहा, “मुझे अचानक महूसस हुआ कि मेरी कुर्सी हिल रही है. मैं एक अपार्टमेंट में चौथी मंजिल पर रहता हूं. मैं जल्दी से अपने इमारत से बाहर निकला और लोगों से लिफ्ट इस्तेमाल नहीं करने करने का अनुरोध किया.”

बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के अलग-अलग हिस्सों में शनिवार को दो बार भूंकप के झटके महसूस किए गए. अभी तक कहीं से कोई बड़ी नुकसान की सूचना नहीं है लेकिन बिजली और संचार व्यवस्था चरमरा गई है.

राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव ब्यास जी ने बताया कि राजधानी पटना के अलावा गया, सीतामढ़ी, नालंदा, बक्सर, पूर्णिया, बेगूसराय, गोपालगंज सहित कई जिलों में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. उन्होंने बताया कि प्रारंभिक तौर पर अभी तक कहीं से कोई बड़े नुकसान की खबर नहीं है.

भूकंप के तेज झटकों की वजह से नेपाल में भय का माहौल था. राजधानी काठमांडू और लामजुंग में बेसिसहर के अलावा भरतपुर, पोखरा और कीर्तिपुर भूकंप से प्रभावित होने वाले शहर हैं.

Tags: , , ,