हरियाणा में समय पूर्व विधानसभा चुनाव?

Wednesday, July 16, 2014

A A

निर्वाचन आयोग

चंडीगढ़ | एजेंसी: हरियाणा में इस बात का अनुमान जाहिर किया जाने लगा है कि राज्य में अब विधानसभा चुनाव करीब आ गया है.

राजनीतिक पार्टियां और नेता चुनाव की तारीखों की घोषणा से पहले कार्यो को अंतिम रूप दे देने में जुट गए हैं.

90 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 27 अक्टूबर को खत्म हो रहा है और चुनाव इससे पहले कराए जाने हैं. अक्टूबर महीने में कई त्योहार होने के कारण इस बात के संकेत हैं कि चुनाव सितंबर में कराए जा सकते हैं.

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने चुनाव आयोग से कह दिया है कि अक्टूबर में चुनाव कार्यो के लिए पुलिस बल मुहैया करा पाना कठिन होगा.

चुनाव आयोग को यह फैसला लेना है कि वह महाराष्ट्र, जम्मू एवं कश्मीर और दिल्ली में कब चुनाव कराएगा.

जिस तरह से राज्य की भूपेंद्र सिंह हुड्डा नीत कांग्रेस सरकार पिछले सप्ताह राज्य के गुरुद्वारों के लिए अलग प्रबंधक समिति गठित करने का विधेयक पारित कराया उसकी आतुरता से कई संकेत मिलते हैं.

विधानसभा के मानसून सत्र के पहले ही दिन विधेयक पेश किया गया और तीन घंटे की चर्चा के बाद उसे पारित कर दिया गया. इंडियन नेशनल लोकदल और भारतीय जनता पार्टी इस कदम से खफा हुई और सदन से बहिगर्मन किया.

हरियाणा के राज्यपाल जगन्नाथ पहाड़िया ने भी सोमवार को अपनी मंजूरी देते हुए विधेयक को अधिनियम का रूप दे दिया. पहाड़िया अपने कार्यकाल के अंतिम मोड़ पर हैं. शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के इस आग्रह के बावजूद कि इस विवादित मुद्दे पर वैधानिक राय ली जाए, पहाड़िया ने अपनी मंजूरी दे दी.

राज्य में पार्टियों और नेताओं के चुनावी मूड में आते देख सभी नजरें चुनाव आयोग पर टिकी हैं.

Tags: , , , ,